अवैध हथियारों की मंडी बना वेस्ट यूपी, Meerut पुलिस ने पकड़ी हथियारों की फेक्ट्री, धंधे से जुड़े 140 लोगों को भी दबोचा

24 घंटे में दो अवैध हथियारों की फेक्ट्री पकड़ी, 140 लोगों को भी दबोचा, पुलिस की 10 टीम कर रही थी काम

0
203

meerut। यूपी में पंचायत चुनाव की सुगबुगाहट शुरु होते ही मौत के सामान की खरीद-फरोख्त भी शुरु हो जाती है। मौत के सोदागर मेरठ व आस-पास के ग्रामीण क्षेत्रों में अपनी-अपनी दुकान सजाने लगते हैं। सोमवार को मेरठ पुलिस ने ऐसी ही अवैध हथियारों की फेक्ट्री पर बड़ी कार्रवाई करते हुए 140 लोगों को दबोच लिया है। साथ सैंकड़ों बने और अधबने हथियारों की खेप भी जब्त कर ली है। मेरठ पुलिस की 10 टीमें इस में लगी थी जिन्होंने 24 घंटे के अंदर इस कार्रवाई को अंजाम दिया ।

मेरठ आएगा आशु जाट, परतापुर पुलिस ने मांगा रिमांड, कई जघन्य अपराध में है वां

प्रेस वार्ता के दौरान SSP मेरठ अजय साहनी ने बताया कि 10 टीमें काम अवैध फेक्ट्री का पर्दाफास करने के लिए लगी थी। जिन्होंने मेरठ शहर के विभिन्न इलाकों में उन अवैध हथियार बनाने वालों के खिलाफ अभियान चलाया हुआ था। इसी रिज्लट आज आपके सामने है। SSP का कहना है अवैध हथियार बनाने वालों के खिलाफ अभियान अभी खत्म नहीं हुआ है। शहर से लेकर ग्रामीण क्षेत्र तक जहां भी यह गोरखधंधा होता है। उन्हे खोज निकाला जाएगा। साथ ही कड़ी कार्रवाई की जाएगी। SSP अजय साहनी ने बताया कि जो अवैध फेक्ट्री पकड़ी है उसमें ज्यादातर पिस्टल और तमंचे बरामद हुए हैं।  इस दौरान दो हथियार बनाने की फैक्ट्रियों का भी भंडाफोड़ कर दिया जोकि मेरठ के ब्रह्मपुरी और किला परीक्षितगढ़ में चल रही थी, इसके साथ पुलिस ने चार लग्जरी गाड़ियों को भी बरामद किया है। यानी कि मेरठ में बड़े स्तर पर हथियार बनाने और सप्लाई करने का गोरख धंधा फल-फूल रहा था जिसको पुलिस 24 घंटे के ऑपरेशन के बाद सफलता मिली है। टीम के सभी सदस्यों की एसएसपी ने बधाई दी।

मथुरा में पुलिस ने होटल में मारा छापा तो इस हाल में मिले लड़के-ल​ड़कियां, मची अफरातफरी

करोड़ों का कारोबार

सूत्रों का दावा है कि शहर और आस-पास के ग्रामीण क्षेत्रों में कई स्थानों पर देशी तमंचे और पिस्टल तैयार की जा रही है। बताया जाता है कि मौत के इस सामान की खरीद-फरोख्त गंगा से सटे खादर क्षेत्र में खूब होती है। इस समय पंचायत चुनाव को देखते हुए मौत के इन सोदागरों के पास भारी डिमांड है। वेस्ट यूपी में सहारनपुर, शामली, मेरठ, बागपत, बुलंदशहर सहित अन्य जिलों में भी कारोबार फैला है।

 

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here