Breaking: बेटियों की सुरक्षा की जिम्मेदारी लेनी होगी, सरकार को जगाने आए हैं: प्रियंका गांधी

0
111

नोएडा। ग्रेटर नोएडा से हाथरस तक की दूरी ​160 किलोमीटर है। यहां कांग्रेस नेता राहुल गांधी और प्रियंका गांधी ग्रेटर नोएडा के परिचौक पर रोक लिया गया। उसके बाद से दोनों सैकड़ों कांग्रेसी नेताओं के साथ हाथरस के लिए पैदल निकल गए। मीडिया के साथ बातचीत में कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा कि उत्तर प्रदेश में अराजकता का माहौल है। प्रदेश सरकार को बेटियों की सुरक्षा की जिम्मेदारी लेनी होगी। सरकार को जगाने आए हैं। उन्होंने कहा कि वे हाथरस में पीड़ित परिवार से मिलने जा रहे हैं। हमें परिवार से मिलने से रोका जा रहा है। उन्होंने कहा कि खुद को हिन्दुओं का रखवाले कहती है प्रदेश सरकार, लेकिन उसने हिन्दू की बेटी के साथ किया। उसके अंतिम सरकार में पिता को भी नहीं जाने दिया गया। उन्होंने कहा कि प्रदेश में हाथरस के अलावा भी अन्य जगह भी बेटियों के साथ घटनाएं सामने आयी हैं। प्रदेश में बेटियां सुरक्षित नहीं हैं।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा कि ऐसी घटनाओं पर गुस्सा चढ़ता है, मेरी 18 साल की बेटी है। हर महिला को गुस्सा चढ़ना चाहिए। हमारे हिंदू धर्म में कहां लिखा है कि अंतिम संस्कार परिवार के बिना हो। प्रियंका ने कहा कि प्रदेश की सुरक्षा के लिए मुख्यमंत्री जिम्मेदार है, हर रोज प्रदेश में रेप की घटनाएं हो रही हैं। सरकार की ओर से सख्त कार्रवाई नहीं की जा रही है। आप हिंदू धर्म के रखवाले हैं, आपने ये स्थिति बना दी है कि एक पिता अपनी बेटी की चिता नहीं जलवा पा रहे हैं। इससे पहले गुरुवार को कांग्रेस नेता राहुल गांधी, प्रियंका गांधी वाड्रा, रणदीप सुरजेवाला समेत कई नेताओं के साथ हजारों पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ दिल्ली से निकले, इस दौरान काफिले को रोकने की कोशिश की गई। ग्रेटर नोएडा परी चौक पर इस काफिले को रोक लिया गया। इसके बाद राहुल गांधी और प्रियंका गांधी अपने नेताओं व कार्यकर्ताओं के साथ पैदल ही हाथरस के लिए निकल लिए हैं। बताते हैं कि हाथरस में धारा 144 लगा दी गई है। ऐसे में कांग्रेस काफिला वहां पहुंच पाएगा, इसमें संशय है।

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here