UP में प्रदूषण की जांच भी हुई महंगी, 1 जनवरी से दोगुना चुकाना पड़ रहा जांच चार्ज

यूपी में वाहन मालिकों को जेब होने लगी ढीली, परिवहन विभाग ने जारी की प्रदूषण जांच की बढी हुई दरें

0
166

lucknow: यूपी में एक जनवरी से वाहनों का प्रदूषण भी महंगा हो गया है। अब वाहन मालिकों को प्रदुषण के लिए दोगुना पैसा चुकाना पड़ रहा है। प्रदेश भर में ऐसे वाहनों की संख्या करीब तीन करोड़ है। प्रदूषण जांच केंद्रों की संख्या लखनऊ में 448 व प्रदेश में 1600 है। प्रदूषण जांच की नई दरें एक जनवरी 2021 से प्रदेश भर में लागू हो गई हैं। जिससे वाहन मालिकों की जेब ज्यादा ढीली हो रही है।

Bulandshar में महिला एसआई ने की आत्महत्या, घर के कमरे में फंदे पर लटका मिला शव, मौके से सुसाइड नोट भी बरामद

बढ़ते प्रदूषण को नियंत्रण में करने के लिए गाड़ी मालिकों को हर छह माह और साल भर में वाहनों की प्रदूषण जांच करानी होती है। परिवहन विभाग ने प्रदेश भर के हर थाना क्षेत्र के भीतर एक प्रदूषण केंद्र स्थापित करने का लक्ष्य मार्च 2021 तक रखा है। ताकि दो व चार पहिया गाड़ी मालिकों को प्रदूषण जांच कराने में दिक्कत न हो। परिवहन आयुक्त धीरज साहू ने बताया कि उत्तर प्रदेश ऑनलाइन मोटरयान प्रदूषण जांच केंद्र योजना के अंतर्गत खोलने की तैयारी है।
Nagar Nigam में आउटसोर्सिंग एजेंसियों का कांट्रेक्ट खत्म! अब जेम पोर्टल से रखे जाएंगे सफाईकर्मी

प्रदूषण जांच की नई दरें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here