सावधान! कहीं आप तो नहीं कर रहे ज्यादा सैनिटाइजर का इस्तेमाल, उठाना पड़ सकता है भारी नुकसान

एक रिपोर्ट के मुताबिक देशभर में सैनिटाइजर के ज्यादा इस्तेमाल से हो चुके हैं हजारों हादसे व इंफेक्शन

0
921

Meerut। यदि आप भी बिना सावधानी के सैनिटाइजर का इस्तेमाल कर रहें  हैं तो ये खबर आपके लिए उपयोगी साबित हो सकती है। corona infection के चलते ज्यादातर लोग हर 10 मिनट में सैनिटाइजर का इस्तेमाल कर रहे हैं। कई मामलों में सैनिटाइजर लोगों की मौत का कारण भी बन रहा है। कई बार लोग खाना खाने से पहले भी सैनिटाइजर का इस्तेमाल कर रहे हैं। जो बहुत ही खतरनाक है, डॅाक्टर्स के मुताबिक सैनाइजर में एल्कोहल के अलावा विशैला कैमिकल भी होता है, जो अंदर जाकर आपकी किडनी सहित कई अन्य body के पार्ट पर बुरा असर डाल रहा है।

meerut कचहरी तक पहुंचा corona मची अफरातफरी, मवाना में भी 9 infected

ये बरतें सावधानियां

सैनिटाइजर के इस्तेमाल और हाथों पर उसके प्रयोग को लेकर एक्सपट्र्स की सलाह के मुताबिक सावधानी बरतें.बार-बार या बहुत जल्दी-जल्दी सैनिटाइजर हाथों पर लगाने की जरूरत नहीं है। सैनिटाइजऱ स्प्रे कर रहे हैं तो बहुत ध्यान रखें कि आसपास कोई ज्वलनशील या जलती हुई चीज न हो। सैनिटाइजर का खाने-पीने की चीजों पर डायरेक्ट इस्तेमाल करने से बचें, इससे स्वास्थ्य संबंधी दिक्कतें हो सकती हैं। बाजार से खरीदकर सामान घर लाने के बाद कम से कम 4 घंटे केलिए उन्हें बिना इस्तेमाल किए छोड़ देना चाहिए। पानी में पोटैशियम परमैंगानेटकेमिकल डालकर भी इन्हें साफ किया जा सकता है। सैनिटाइजर में ट्राइक्लोसान होता है,जिसे हाथ की स्किन सोख लेती है। ज्यादा इस्तेमाल से यह आपके ब्लड में मिल जाता हैं और आपकी मांसपेशियों के ऑर्डिनेशन को नुकसान पहुंचाता है।

लखनऊः UP में अब बार खोलने की अनुनति, मार्च से चल रहे थे बंद, जाने क्या हैं सरकार के आदेश

ये हो सकता है हादसा

एक व्यक्ति ने अपने हाथों पर सैनिटाइजऱ लगाकर जब तुरंत एक मेटल सतह को छुआ तो उसके हाथ झुलस गए। इसका कारण बताया गया कि स्टैटिक बिजली और अल्कोहल के बीच हुई प्रक्रिया से यह दुर्घटना हुई। सैनिटाइजर हाथों पर लगाकर तुरंत बिजली स्विच या तार, वेल्डिंग या ग्राइंडिंग उपकरणों के संपर्क में जाने से भी खतरा हो सकता है।इससे बचाव की तरकीब यही बताई गई कि सैनिटाइजर लिक्विड हाथों पर लगाने के बाद कुछ देर ठहरें और जब यह द्रव हाथों पर पूरी तरह से सूख चुका हो तभी किसी धातु या ज्वलनशील चीज के सुरक्षित संपर्क में जाएं, या फिर आप ग्लव्स भी पहन सकते हैं।

Meerut: डुप्लीकेट एनसीईआरटी किताबों को लेकर खुले नए राज, भाजपा नेता और उसके भतीजे पर शिकंजा

स्किन के लिए बेहद नुकसानदायक

डॅा. प्रशांत कांबोज बताते हैं कि सैनिटाइजर में  बेंजाल्कोनियम क्लोराइड होता है, जो कीटाणुओं और बैक्टीरिया को हाथों से बाहर निकाल देता है, लेकिन यह स्किन के लिए अच्छा नहीं होता है. इससेस्किन में जलन और खुजली हो सकती हैं.लीवर, किडनी को भी है नुकसान सैनिटाइजर में खुशबू के लिए फैथलेट्सका इस्तेमाल किया जाता है. इसकी ज्यादा मात्रा हानिकारक है. अत्यधिक खुशबू वाले सैनिटाइजर लीवर, किडनी, फेफड़े और प्रजनन तंत्र को नुकसान पहुंचाते हैं।

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here