बेटी ने आगे पढ़ने की जिद की तो पिता ने उस पर लगा दिए गंभीर आरोप…दे दी जान

'बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ' वाले देश में एक बेटी को पढ़ने से रोके जाने पर उसने सुसाइड कर लिया। इस स्लोगन से आगे बढ़ने वाली योगी सरकार पर समाज में हो रही ऐसी घटनाओं पर सवाल उठ रहे हैं। यह घटना संदेश भी देती है कि बेटियों को ​पढ़ाने की बात पर ग्रास रूट पर काम करने की जरूरत है।

0
149

मुरादाबाद। बेटी ने इंटरमीडिएट पास कर ली थी, वह ग्रेजुएशन करना चाहती थी। उसने पिता से कहा तो आगे पढ़ाने से फौरन मना कर दिया गया। बेटी परेशान थी, मां भी चाहती थी कि वह पढ़े। ​उसने आखिरी बार पिता से ग्रेजुएशन करने की बात कही तो पिता ने उस पर चरित्रहीन के आरोप लगा दिए। पिता की ये बातें सुनकर बेटी के सब्र का बांध टूट गया और उसने चार पन्नों का सुसाइड नोट लिखकर खुदकुशी कर ली। अब पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है।

यह भी पढ़ें: Meerut: कोरोना मरीज हुए 6000 से ज्यादा, डीएम ने पूछा- संक्रमितों की इतनी मौतें क्यों हो रही

मझोला थाना क्षेत्र के चक फैजुल्लापुर की रहने वाली संजना इंटर पूरी करने के बाद अपने माता-पिता से ग्रेजुशन करने का दबाव डाल रही थी। मां रिंकी भी बेटी को आगे पढ़ाना चाहती थीं और उन्होंने हामी भर दी थी, जबकि संजना का पिता कपिल बेटी को आगे पढ़ाने को राजी नहीं था। संजना के रहन-सहन पर ताने मारता रहा। शनिवार की सुबह भी मोबाइल फोन से बात करने पर पिता ने बेटी को ताना मारा और उसके चरित्र पर अंगुली उठाई। अपने ही पिता के ताने सुनने के बाद संजना टूट गई और गुमसुम हो गई थी। एसपी सिटी अमित कुमार आनंद ने बताया कि चार पन्ने के सुसाइड नोट में संजना ने कहा है कि वह पढ़ना चाहती थी। पिता पढ़ने नहीं देते। किसी तरह 10वीं पास किया। 12वीं की पढ़ाई में पापा बाधा बनने लगे। फिर भी पढ़ाई पूरी कर ली। अब आगे बढ़ना चाहती हूं। मुझे पढ़ने नहीं दिया जा रहा।

यह भी पढ़ें: Weather Alert: West UP में गर्मी और उमस ने बढ़ाई मुश्किलें, अभी बारिश के आसार बिल्कुल नहीं

संजना तीन भाई-बहनों में सबसे बड़ी थी। उसके दो छोटे भाई शिवांग और मयंक हैं। कपिल अपनी बेटी को पीटता था। बच्चों की पढ़ाई को लेकर कपिल व पत्नी रिंकी के बीच आए दिन झगड़ा होता रहता था। इन सबके बाद भी संजना की मां रिंकी के भाई हुकुम सिंह की मदद से बच्चों को पढ़ाने की कोशिश कर रही थी। इसको लेकर भी जीजा-साले के बीच कई बार विवाद हो चुका था। हो चुका था। जब संजना के मामा हुकुम सिंह को उसकी खुदकुशी की जानकारी हुई तो उनके घर में भी कोहराम मच गया।

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here