Moradabad में पत्रकारों से मारपीट मामले में अखिलेश यादव समेत 21 लोगों पर मुकदमा

0
53

मुरादाबाद। समाजवादी पार्टी (सपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव समेत सपा के 21 कार्यकर्ताओं के खिलाफ मुरादाबाद में मीडिया कर्मियों से मारपीट के आरोप में मुकदमा दर्ज हुआ है। उधर, सपा के जिला अध्यक्ष जय वीर सिंह यादव की तहरीर पर दो पत्रकारों के खिलाफ भी केस दर्ज किया गया है। मझोला थाना क्षेत्र के बुद्घि विहार निवासी एवं आईपीएए (इंडियन प्रेस अलाइवनेस एसोसिएशन) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अवधेश पराशर की तहरीर पर केस दर्ज कराया गया है। जिसमें आरोप लगाया है कि पाकबड़ा के रीजेंसी होटल में 11 मार्च की शाम पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की ओर से प्रेस कन्फ्रेंस आयोजित की गई थी। जिसमें कुछ पत्रकारों ने व्यक्तिगत सवाल पूछ लिए जिससे गुस्साए अखिलेश यादव ने अपने सुरक्षा गार्ड और सपा कार्यकर्ताओं से पत्रकारों को बंधक बनवा लिया और उनकी पिटाई करवाई थी। जिसमें कई पत्रकारों को गंभीर चोटें आईं। उनका इलाज चल रहा है।

the fire: जन शताब्दी एक्सप्रेस में लगी आग, बीच जंगल में ही रोकी गई ट्रेन

उधर, सपा के जिलाध्यक्ष जय वीर सिंह यादव की तहरीर पर मीडियाकर्मी फरीद शम्सी और उवैद उर्रहमान के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज किया गया है। जिसमें सपा जिला अध्यक्ष ने आरोप लगाया है कि खुद को पत्रकार बताने वाले दो व्यक्तियों ने पूर्व मुख्यमंत्री का सुरक्षा घेरा तोड़कर अंदर घुसने की कोशिश की, जब उन्हें सुरक्षा गार्डो ने रोका तो उनके साथ मारपीट की गई।

एसपी सिटी मुरादाबाद के अमित कुमार आनंद ने बताया कि होटल में मारपीट के मामले में दोनों पक्षों से पुलिस को तहरीर मिली है। मीडिया कर्मियों की तहरीर पर मुख्यमंत्री समेत 21 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। सपा जिलाध्यक्ष ने पत्रकारों के खिलाफ भी तहरीर दी है। जिस पर केस दर्ज किय गया है। एसपी सिटी मुरादाबाद ने बताया कि घटना से संबंधित साक्ष्य एकत्र हो रहे हैं। साक्ष्य के आधार पर कानूनी कार्रवाई होगी।

meerut: BJP प्रदेश कार्यसमिति में बाजपेयी और चरण सिंह लिसाड़ी को जगह, लंबे समय बाद मिला स्थान

सपा जिलाध्यक्ष जयवीर सिंह यादव ने तहरीर देकर बताया कि पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव मुरादाबाद दौरे पर थे। जेड प्लस सुरक्षा के बीच वह पांच सितारा होटल पहुंचे। प्रेसवार्ता शुरू होने से ठीक पहले करीब पांच बजे फरीद शम्सी व उवैदुल रहमान नाम के दो व्यक्ति होटल पहुंचे। दोनों खुद को पत्रकार बता रहे थे। दोनों पूर्व मुख्यमंत्री के सुरक्षा कर्मियों व सपा कार्यकर्ताओं पर लगातार छींटाकशी कर रहे थे। प्रेस कांफ्रेंस खत्म होने के बाद करीब साढ़े सात बजे दोनों ने पूर्व मुख्यमंत्री को प्रेस आइडी दिखाई। इसके बाद सुरक्षा घेरा तोड़ते हुए जबरिया बाइट लेने पर आमादा हो गए। वीआइपी सुरक्षा में तैनात सुरक्षा कर्मियों से दोनों ने धक्कामुक्की की। इसके बाद बेहोशी का नाटक करते फरीद शम्सी जमीन पर लेट गया। दोनों कथित पत्रकारों ने जान बूझकर सुरक्षा घेरा तोड़ते हुए पूर्व मुख्यमंत्री की छवि धूमिल करने की कोशिश की। दोनों ने जानबूझ कर पार्टी की छवि खराब करने की कोशिश की। सपा जिलाध्यक्ष की तहरीर पर दोनों आरोपितों के खिलाफ पाकबड़ा पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया।

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here