Rapid Rail: अब दिल्ली से मेरठ नहीं मुजफ्फरनगर तक जाएगी, सिर्फ डेढ़ घंटे में तय करेगी 122 किलोमीटर का सफर

सीएम योगी आदित्यनाथ ने दिल्ली से ​मेरठ तक के रैपिड रेल प्रोजेक्ट में अब मुजफ्फरनगर को भी शामिल कर लिया है और नया प्रस्ताव केंद्र सरकार को भेजा है। अगर यह प्रस्ताव केंद्र सरकार मंजूर करती है तो मुजफ्फरनगर के लोगों का सफर काफी आरामदायक हो जाएगा। मुजफ्फरनगर से हजारों लोग अपनी नौकरी और काम के सिलसिले में दिल्ली जाते हैं।

0
219

लखनऊ। दिल्ली (Delhi) से मेरठ (Meerut) तक 82 किलोमीटर का ​सफर तय कराने वाली रैपिड रेल (Rapid Rail) अब मुजफ्फरनगर (Muzaffernagar) तक जाएगी और लोग 122 किलोमीटर का यह सफर सिर्फ डेढ़ घंटे में कर लेंगे। सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने मेरठ से मुजफ्फरनगर तक आरआरटीएस कॉरिडोर के विस्तार के प्रस्ताव को केंद्र सरकार (Central Government) को भेजने का आदेश दिया है। इससे पहले केंद्रीय राज्यमंत्री मुजफ्फरनगर के सांसद डा. संजीव बालियान ने दिल्ली-मेरठ रैपिड रेल परियोजना को मुजफ्फरनगर तक करने का प्रस्ताव रखा था।

यह भी पढ़ें: मेरठ में पहली पर 24 घंटे में मिले ​कोरोना के 222 मरीज, आठ संक्रमितों की मौत

रैपिड रेल परियोजना में आने वाली लागत की 15 फीसदी धनराशि प्रदेश सरकार को और शेष 85 प्रतिशत धनराशि केंद्र सरकार को वहन करनी है। एनसीआर में रैपिड रेल के तीन प्रोजेक्ट पर काम चल रहा है। उसमें दिल्ली-मेरठ रैपिड रेल प्रोजेक्ट मात्र 82 किलोमीटर का है, जबकि दिल्ली-अलवर का प्रोजेक्ट 180 तथा दिल्ली-पानीपत 111 किलोमीटर है। केन्द्रीय राज्यमंत्री के प्रस्ताव में मुजफ्फरनगर तक रैपिड रेल का विस्तार होने पर महज 40 किलोमीटर बढ़ाने की जानकारी दी गई थी। दिल्ली से मेरठ की दूरी 82 किलोमीटर है।

यह भी पढ़ें: Lucknow: 15 आईएएस बदले, आठ में से सात DM हटाकर किए प्रतीक्षारत, मेरठ के नए​ जिलाधिकारी के. बालाजी

मुजफ्फरनगर तक रैपिड रेल पहुंचती है तो केवल 40 किलोमीटर की दूरी और बढ़ेगी, क्योंकि मेरठ के मोदीपुरम तक परियोजना मंजूर है। दिल्ली से मुजफ्फरनगर की दूरी कुल 122 किलोमीटर हो जाएगी। रैपिड रेल की रफ्तार 100 से 180 किमी प्रति घंटा होने से अधिकतम डेढ़ घंटे में दिल्ली से मेरठ होते हुए मुजफ्फरनगर पहुंचा जा सकेगा। अगर ये प्रस्ताव केंद्र सरकार मंजूर करती है तो मेरठ के साथ-साथ मुजफ्फरनगर के लोगों को भी काफी फायदा होगा और उनका दिल्ली तक का सफर आरामदायक हो जाएगा। साथ ही प्रदूषण और जाम से उन्हें राहत मिलेगी और यात्रा में काफी समय भी बचेगा।

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here