UP के MLA और MLC की लगेगी पाठशाला, पेपरलेस कार्य प्रणाली से होंगे रूबरू

0
70

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के एमएलए और एमएलसी अब पेपरलेस कार्य प्रणाली से रूबरू होंगे। वह अप्लीकेशन डाउनलोड करने की ट्रेनिंग लेंगे। आनलाइन वर्कशाप और मीटिंग के बारे में जानेंगे। डाटा सीट का संचालन सीखेंगे। योगी सरकार प्रदेश के सभी एमएलए और एमएलसी के लिए पाठशाला संचालन करने जा रही है। 11 से 13 फरवरी तक चलने वाली इस पाठशाला में एनआइसी के एक्सपर्ट विधायकों को पेपरलेस कार्य प्रणाली के टिप्स देंगे।

farmers protest: मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने पुलिस ड्यूटी में लगी बसें वापस मांगी, कहा जवानों को उतारकर डिपो पहुंचे सभी DTC की बसें

उत्तर प्रदेश के माननीयों के लिए तीन दिन तक चलने वाले इस प्रशिक्षण कार्यक्रम में उन्हें टैबलेट के जरिये अपने क्षेत्र की समस्याओं को आगे बढ़ाने से लेकर विधान सभा और विधान परिषद में सवाल पूछने की प्रक्रिया तक को पेपरलेस करने की जानकारी दी जाएगी। विधायकों को अपने टैबलेट के जरिये ही पुलिस, प्रशासन और सरकार के साथ संवाद करने की पूरी प्रक्रिया सिखाई जाएगी। ट्रेनिंग से पहले सभी विधायकों को राज्य सरकार की ओर से टेबलेट दिया जाएगा। इस पूरी प्रक्रिया पर खुद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ नजर रखेंगे।

Meerut: नगर आयुक्त ने किया वार्डों का औचक निरीक्षण, गंदगी मिलने पर कई कर्मचारियों का वेतन काटा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मिनिमम गवर्नमेंट-मैक्सिमम गवर्नेंस के मंत्र को साकार करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कैबिनेट समेत सरकार के सभी काम टैबलेट पर आनलाइन करने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री योगी ने प्रदेश मंत्रिपरिषद की अगली बैठक ई-कैबिनेट के रूप होने का निर्देश भी कर दिया है। कैबिनेट और सरकार का कामकाज पेपरलेस करने की प्रक्रिया की शुरूआत मंगलवार को मुख्यमंत्री आवास पर मंत्रियों के प्रशिक्षण से हो गई है। अगले दो से तीन दिनों में इसे पूरा कर लिया जाएगा। मंत्रियों और विधायकों के निजी स्टाफ को भी ट्रेनिंग दी जाएगी।

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here