Lucknow की इस Love Story का ऐसे हुआ अंत कि सुनने वाले ​भी सिहर गए, पुलिस की कस्टडी में ये हुआ

लखनऊ की एक प्रेम कहानी का अंत सोमवार को हो गया। शादीशुदा प्रेमी युगल को बरेली से लेकर लखनऊ पुलिस वापस आ रही थी। दोनों की अचानक तबीयत खराब हुई तो उन्हें ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया गया। यहां उपचार के दौरान दोनों की मौत हो गई।

0
231

लखनऊ।मां लखनऊ के कृष्णानगर के निजी अस्पताल में काम करती हैं। बेटी पारुल भी वहां अक्सर उसका हाथ बंटाने जाती थी। इसी दौरान उसकी विकास से मुलाकात हुई थी, जिसके बाद वह अक्सर पारुल के घर आने जाने लगा। विकास सराफा बाजार में काम करता था। इसी दौरान दोनों नज़दीक आ गए और दोनों में प्रेम प्रसंग शुरू हो गया था। इसकी भनक घर वालों को भी हो गई थी। विकास की शादी दिसम्बर 2018 में कल्पना सोनी से हुई थी। हालांकि शादी के एक साल पूरे भी नहीं हुए थे और वह पारुल को लेकर भाग गया। विकास सराफा बाजार में काम करता था। पारुल की शादी करीब 10 साल पहले वीआइपी रोड निवासी रिंकू रावत से हुई थी। पारुल के तीन बच्चे हैं। रिंकू रावत ऑटो चलाता था और आठ साल पहले मोबाइल चोरी के आरोप में जेल भेजा गया था। वह अभी भी जेल में है। इस मामले में लखनऊ पुलिस रविवार की देर रात प्रेमी विकास और प्रेमिका पारुल को लेकर बरेली से लखनऊ ला रही थी। रास्ते में ही उन्हें उल्टी शुरू हो गई। दोनों को ट्रामा सेंटर लाया गया यहां सोमवार को चिकित्सकों ने दोनों को मृत घोषित कर दिया। इस मामले में पहले पारुल की मां ने विकास के खिलाफ बेटी को भगा ले जाने की एफआईआर दर्ज कराई थी।

यह भी पढ़ें: यूपी में फिर आईपीएस और पीसीएस के तबादले, इन अफसरों को मिली नई जिम्मेदारी

पुलिस आयुक्त सुजीत पांडेय के मुताबिक कृष्णानगर पुलिस कोर्ट के आदेश पर प्रकरण की विवेचना कर रही थी। पुलिस को सूचना मिली थी कि आरोपी विकास सोनी सदर बाजार बरेली में छिपकर रह रहा है। इसके बाद पुलिस टीम आरोपी के दो रिश्तेदारों को लेकर रविवार रात में बरेली दबिश देने पहुंंची थी। पुलिस ने विकास को हिरासत में लेकर पारुल को बरामद कर लिया। इसके बाद दोनों को लेकर लखनऊ के लिए रवाना हुई। पुलिस टीम दोनों को लेकर आ रही थी। आरोपी को जब हिरासत में लिया गया था, तब उसने पुलिस से सामान पैक करने के लिए कुछ देर की मोहलत मांगी थी। इस पर विकास और पारुल को उनका जरूरी सामान साथ में रखने की अनुमति दी गई थी।

यह भी पढ़ें: Shameful: पंचायत ने दुष्कर्म पीड़िता की कीमत लगाई 50 हजार, दबाव में आरोपी ने कर लिया निकाह, फिर जो हुआ…

आशंका जताई जा रही है कि दोनों ने इसी दौरान जहरीला पदार्थ खा लिया था। रास्ते में दोनों उल्टियां करने लगे। दोनों की हालत बिगड़ने लगी तो पुलिस ने पूछताछ की। इस पर प्रेमी युगल ने जहर ​खाने की बात कही। इसके बाद दोनों को ​ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया गया। यहां उपचार के दौरान विकास और पारुल की मौत हो गई। पुलिस के अनुसार 14 अगस्त 2020 को पारुल की मां सुषमा रावत ने विकास सोनी के खिलाफ एफआइआइ दर्ज कराई थी। आरोप है कि 21 नवम्बर 2019 को विकास पारुल को उसके ससुराल से भगा ले गया था। लखनऊ पुलिस उन्हें कोर्ट में पेश करने के लिए बरेली से वापस ला रही थी। दोनों की मौत से परिवारों में कोहराम मच गया।

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here