CM Yogi का ऐलान- Police में 20 फीसदी महिलाओं की भर्ती, बहन-बेटियों पर बुरी नजर पर कठोर सजा

सीएम योगी आदित्यनाथ ने बलरामपुर में मिशन शक्ति का उद्घाटन करते हुए बड़ी घोषणाएं की हैं। उन्होंने कहा है कि बहन और बेटियों पर बुरी नजर वालों को कठोर सजा दिलवाएंगे, जिससे वे आगे ऐसी हिमाकत न कर सकें।

0
105

लखनऊ। शनिवार को सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने बलरामपुर (Balrampur) ​में मिशन ​शक्ति (Mission Shakti) के उद्घाटन के मौके पर बड़ा ऐलान कर दिया है। उन्होंने कहा कि यूपी पुलिस (UP Police) में 20 फीसदी महिलाओं की भर्ती होगी। प्रदेश में बहन-बेटियों पर बुरी नजर रखने वालों को कठोर सजा दिलवाएंगे। ऐसे लोगों की प्रदेश में कोई जगह नहीं है, इसलिए उनकी आने वाले समय में दुर्गति तय है।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को मिशन शक्ति का उद्घाटन करके बलरामपुर को सवा पांच सौ करोड़ रुपए की सौगात दी है। उन्होंने कहा कि नारी गरिमा व स्वाभिमान को जो लोग चोट पहुंचाने की कोशिश करेंगे, उन अपराधियों से सरकार पूरी कठोरता से निपटेगी। शारदीय नवरात्र से वासंतिक नवरात्र तक चलने वाले मिशन शक्ति अभियान का शुभारंभ करते हुए सीएम योगी ने कहा कि नारी शक्ति की प्रतीक है। नवरात्र का अनुष्ठान इसी का द्योतक है। जरूरत है कि बदलते दौर में नई पीढ़ी को अपनी सनातन संस्कृति की परंपरा का वाहक बनाएं, उनमें, स्त्री के प्रति सम्मान, सुरक्षा और स्वावलंबन की भावना का प्रसार करें। मिशन शक्ति इसी दिशा में एक प्रयास है।

सीएम ने कहा कि बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ, मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना, मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना जैसे प्रयासों के माध्यम से केंद्र व राज्य सरकार पूरी मजबूती से बेटियों के उत्थान के लिए से संकल्पित है। अपने खिलाफ होने वाली हिंसा या अपराध की शिकायत जरूर करें।  उन्होंने पिछले दिनों बलरामपुर में बालिका के साथ हुई घटना का जिक्र करते हुए कहा कि मिशन शक्ति उस बालिका को श्रद्धांजलि स्वरूप है। मिशन शक्ति के पहले चरण में महिलाओं, बेटियों और बच्चों की सुरक्षा व सम्मान सुनिश्चित करते हुए जन जागरूकता का कार्यक्रम चलाया जाएगा। दूसरे चरण में ऑपरेशन शक्ति में चिह्नित मनचलों, शोहदों की काउंसलिंग कराई जाएगी।

उन्होंने कहा कि मनचलों व शोहदों की चौराहों पर तस्वीर लगाई जाएगी। अभियान के तहत महिला हित में काम करने वाली संस्थाओं, समूहों और व्यक्तियों को सूचीबद्ध करते हुए राज्य सरकार सम्मानित करेगी। महिलाओं की सुविधा और संवेदनशीलता के दृष्टिगत प्रदेश के सभी थानों और तहसीलों में महिला हेल्प डेस्क की स्थापना की जाएगी। यहां तैनात कर्मचारी भी महिला होगी।

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here