लखनऊ। यूपी (Uttar Pradesh) में तीन नवंबर को सात सीटों पर होने वाले विधान सभा उपचुनाव (UP Assembly By-Election 2020) के लिए भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने अपनी सातों सीटों (Seven Seats) पर उम्मीदवार (Candidate) घोषित कर दिए हैं। एक दिन पहले देवरिया सीट पर उम्मीदवार को लेकर केंद्रीय चुनाव समिति फैसला नहीं ले सकी थी। बुधवार की शाम को इस सीट पर भी उम्मीदवार की घोषणा कर दी गई। देवरिया सीट पर भाजपा के उम्मीदवार सत्यप्रकाश मणि त्रिपाठी (Satyaprakash Mani Tripathi) मैदान में होंगे। इससे पहले मंगलवार को भाजपा ने अपने छह उम्मीदवारों की घोषणा की थी।

देवरिया से सत्यप्रकाश मणि त्रिपाठी भाजपा के पुराने कार्यकर्ता और प्रबुद्ध प्रकोष्ठ के क्षेत्रीय अध्यक्ष भी रहे हैं। पूर्व विधायक जनमेजय सिंह के निधन से खाली हुई देविरया सीट पर उनके पुत्र अजय प्रताप सिंह उर्फ पिंटू सिंह समेत डॉ. अभयमणि त्रिपाठी, सत्यप्रकाश मणि और शलभ मणि त्रिपाठी प्रबल दावेदार थे। जातीय समीकरण को लेकर देविरया में फैसला नहीं हो पा रहा था। वैसे भी इन उपचुनावों में भाजपा ने किसी ब्राह्मण का टिकट नहीं दिया था। ऐसे में पार्टी नेतृत्व ब्राह्मणों की नाराजगी बढ़ने से आशंकित भी था। इसी कारण से देविरया सीट से सत्यप्रकाश मणि त्रिपाठी को टिकट देने का फैसला हुआ।

यूपी में उपचुनाव के लिए ​तीन नवंबर को मतदान होगा ​और दस नवंबर को मतगना और परिणाम घोषित किया जाएगा। मंगलवार को भाजपा की केंद्रीय चुनाव समिति ने यूपी में सात में से छह सीटों पर उम्मीदवार घोषित किए थे। इनमें टूंडला ​से प्रेमपाल धनगर, बांगरमऊ से श्रीकांत कटियार, घाटमपुर से उपेंद्र पासवान, मल्हानी से मनोज सिंह उम्मीदवार बनाए हैं। यूपी के पूर्व मंत्री स्वर्गीय चेतन चौहान की पत्नी संगीता चौहान को अमरोहा की नौगांव सादात से उम्मीदवार बनाया गया है। पति की राजनीतिक विरासत आगे बढ़ाते हुए अब वह सक्रिय सियासत की पारी शुरू कर रही हैं। बुलंदशहर सदर से पूर्व विधायक स्वर्गीय वीरेंद्र सिंह सिरोही की पत्नी ऊषा सिरोही को उम्मीदवार बनाया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here