Corona से यूपी के अपर प्रधान मुख्य वन संरक्षक और पूर्व एमएलसी का निधन

उत्तर प्रदेश में कोरोना का प्रकोप थमने का नाम नहीं ले रहा है। रोजाना हजारों कोरोना संक्रमित मिल रहे हैं। लॉकडाउन खत्म होने के बाद से संक्रमण तेजी से बढ़ा है। पिछले 24 घंटे में ​अपर प्रधान मुख्य वन संरक्षक डा. प्रभाकर दुबे और ​पूर्व विधान परिषद सदस्य नसीब पठान की कोरोना से मृत्यु हो गई।

0
138

लखनऊ। प्रदेश में कोरोना (Corona) का संक्रमण खौफनाक स्थिति​ में है। यह न तो आम आदमी को छोड़ रहा और न ही खास को। कोरोना वायरस की चपेट में रोजाना प्रदेश में ​हजारों लोग संक्रमित हो रहे हैं। लखनऊ (Lucknow) में ​वन विभाग (Forest Department) के अपर प्रधान मुख्य वन संरक्षक डा. प्रभाकर दुबे का निधन हो गया है। वह कोरोना पॉजिटिव थे और पिछले एक हफ्ते से ​लखनऊ पीजीआई (PGI) में भर्ती थे। डा. दुबे 1987 बैच के आईएफएस अफसर (IFS Officer) थे। डा. दुबे ने लंबे समय भारत सरकार में भी अपनी सेवाएं दी थीं। उतर प्रदेश वन विभाग में वह शोध समेत विभिन्न जिम्मेदारियों से जुड़े रहे। अपने करियर के प्रारंभिक वर्षों में बहराइच, एटा और सिद्धार्थनगर के डीएफओ भी रहे। वर्तमान में वन मुख्यालय में अपर प्रधान मुख्य वन संरक्षक, सामाजिक वानिकी थे।

यह भी पढ़ें: CM Yogi ने कहा- Hathras Case के बहाने जातीय दंगे भड़काना चाहते हैं विपक्षी दल

पूर्व एमएलसी नसीब पठान का निधन

बिजनौर के कांग्रेसी नेता (Congress Leader) और पूर्व विधान परिषद सदस्य नसीब पठान (Former MLC Naseeb Pathan) की कोरोना से मृत्यु हो गई है। उनका इलाज दिल्ली के मेदांता अस्पताल में चल रहा था। इलाज के दौरान ही उन्होंने आखिरी सांस ली। नसीब पठान की गिनती प्रदेश के बड़े कांग्रेस नेताओं में होती थी। अस्पताल में उपचार के दौरान उन्होंने अपना वीडियो जारी किया था। उसमे कांग्रेस नेताओं द्वारा किए जा रहे संघर्ष को जारी रखना कहा था। उन्होंने कहा था कि राहुल गांधी व प्रियंका गांधी कांग्रेस की सरकार फिर से बनाने के लिए बहुत मेहनत कर रहे हैं। नसीब पठान की मौत से उनके परिजनों व समर्थकों को गहरा झटका लगा है।

यह भी पढ़ें: पत्नी ने पति को पीट-पीटकर मार डाला और घर के पीछे खेत में दबा दिया शव, हैरत कर देने वाला हुआ खुलासा

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here