मेरठ जोन में स्वाधीनता दिवस को लेकर सुरक्षा व्यवस्था चाक-चौबंद, ADG ने दिए निर्देश, चप्पे-चप्पे पर रहेगी पैनी नजर

आजादी के जश्न को लेकर दिशा निर्देश जारी, सुरक्षा को लेकर खासा जोर

0
118

मेरठ। Independence day को लेरक सभी तैयारियां पूर्ण कर ली गई हैं। साथ ही सुरक्षा के विशेष इंतजाम किए गए हैं।ंADG Zone राजीव सबरवाल ने मेरठ सहित जोन के अन्य जिलों के ssp को भी सुरक्षा व्यवस्था चाक-चौबंद करने के निर्देश जारी किए हैं। साथ ही संवेदनशील और अतिसंवेदनशील इलाकों में अतिरिक्त फोर्स लगाने के भी निर्देश जारी किए हैं। इसके अलावा निगरानी के लिए सादी वर्दी में पुलिस बल तैनात करने का प्लान है। ताकि किसी भी अनहोनी से निपटा जा सके।

सोशल मीडिया पर नजर

अयोध्या में 5 अगस्त को राम मंदिर के भूमिपूजन के सोशल मीडिया पर तरह-तरह की खबरों का बाजार गर्म है। इसको लेकर भी पुलिस ने खास इंतजाम किए हैं। यदि किसी ने भी सोशल साइट्स पर गलत पोस्ट या कमेंट किया। संबंधित व्यक्ति के खिलाफ सख्त कार्रवाई के निर्देश पुलिस निदेशक की और से जारी किए गए हैं। इसके अलावा dgp मुख्यालय ने कड़ी सुरक्षा व्यवस्था को लेकर सभी जोन के लिए गाइडलाइन जारी की है। इनमें जिन जोन को रेड अलर्ट पर रखा गया है उनमें मेरठ जोन भी शामिल है। खासतौर से मेरठ जोन में सभी संवेदनशील जिलों में खुफिया विभाग को हर एक गतिविधि पर पैनी नजर रखने को कहा गया है। एडीजी ने 14 अगस्त से ही प्रभावी चेकिंग के साथ ही सभी संवेदनशील जिलों में सुरक्षा के अतिरिक्त बंदोबस्त किए जाने की बात कही है।

खुफिया नजर में आपका हर कमेंट, किसी भी गलत कमेंट पर जा सकते हैं जेल

सोशल मीडिया पर पुख्ता नजर

एक रिपोर्ट के मुताबिक वेस्ट यूपी के 6 बड़े जिलों की डेढ करोड़ आबादी में लगभग 60 लाख यूथ social media पर एक्टीव है। कुल 35 लाख की आबादी वाले मेरठ जिले में लगभग 12 लाख यूथ social media पर एक्टीव है। अरब और आस-पास के कई अरब देशों के स्टूडेंट्स मेरठ के प्राइवेट कालेजों में पढाई कर रहे हैं। lockdown के चलते आधे से ज्यादा स्टूडेंट्स अभी भी मेरठ में हैं। खुफिया विभाग ऐसे स्टूडेंट्स की गतिविधियों पर पैनी नजर रखे हुए हैं। क्योंकि मेरठ में कई बार आतंकी इनपुट मिल चुका है। 16 नवंबर 2015 को भी विदेशी जासूस एजाज का मेरठ से गिरफ्तार होना इसका प्रमाण है।

सोशल डिस्टेंसिंग का होगा पालन

Independence Day पर जोन के सभी जिलों के पुलिस लाइन में ध्वजा रोहण के दौरान शारीरिक दूरी का पूरी सख्ती से अनुपालन कराने के निर्देश भी दिए गए हैं। पुलिस को सभी संवेदनशील क्षेत्रों में पूरी सतर्कता बरतने के निर्देश दिए गए हैं। मेरठ जोन के जिलों से लगने वाली दूसरे प्रदेशों की सीमाओं पर कड़ी नजर रखने के साथ ही शरारती तत्वों के विरुद्ध समय रहते प्रभावी निरोधात्मक कार्रवाई करने के निर्देश भी दिए गए हैं। सुरक्षा व्यवस्था को लेकर गाइडलाइन भी तैयार की गई है। सोशल मीडिया की निगरानी में साइबर क्राइम सेल को लगाया गया है। आपित्तजनक व भ्रामक संदेशों पर नजर रखने के साथ ही उनका खंडन किए जाने की बात भी कही गई है।

 

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here