mathura: कार में जिंदे जले पांच लोग, सड़क दुर्घटना के बाद कार में लगी आग, मदद के लिए पुकारने पर भी नहीं बचाई किसी ने जान

जब तक फायर ब्रिगे़ड पहुंची पांच जिंदगियां जलकर हो गई थी राख

0
200

mathura: मंगलवार की सुबह देश के आधुनिक हाईवे पर उस वक्त चीख-पुकार मच गई, जब एक कार कंटेनर से टकरा गई। आग की लपटों में घिरे लोगों की चींखें गूंजती रही और सिस्टम सोता रहा। मदद के अभाव में एक-एक कर पांच लोगों की सांसें थम गई। जब मदद पहुंची तो सब कुछ खत्म हो चुका था। सरकारी मदद पहुंचने में भी एक घंटा लग गया। तब तक कार में मौजूद व्यक्ति बचाव को चीखकर जिंदा जल चुके थे। यह घटना उसी आधुनिक हाईवे की है, जिस पर दिन में सैंक़डो वीवीआईपी लोग गुजरते हैं।

Lucknow: पंचायत के चारों पदों पर एक साथ होंगे चुनाव, सभी तैयारी पूरी, 25 दिसंबर को भंग हो जाएंगी पंचायतें

यमुना एक्सप्रेस वे पर मंगलवार तड़के 4.15 बजे कंटेनर से टकराने के बाद कार में आग लगी थी। इसमें महिला और बच्चों समेत पांच लोग मौजूद थे। वे अंदर से निकल नहीं पा रहे थे। बचाव को उन्होंने चीख पुकार मचाई। पास में ही लोदी पुरा गांव है। यहां के लोग शौच को आए तो उन्होंने तीन सौ मीटर दूर तक चीख पुकार सुनी। दौड़कर वे पहुंच और गांव के और लोगों को फोन कर बुला लिया। मगर,तब तक कार आग का गोला बन चुकी थी। कार में सवार लोग बचाव को चीख रहे थे। मगर, वहां आग बुझाने का कोई साधन नहीं था। ऐसे में वे असहाय बनकर खड़े रहे। करीब एक घंटे बाद फायर ब्रिगेड़ पहुंची जब तक सब जलकर राख हो चुके थे। यमुना एक्सप्रेस वे अथारिटी की ओर से कोई मदद नहीं मिली। पुलिस को फोन किया। सुबह पांच बजे पुलिस वहां पहुंची। इसके बाद 5.15 बजे दमकल की गाड़ी पहुंची। इसके बाद आग बुझाई गई। ग्रामीणों का कहना है कि अगर मदद समय से मिल जाती तो कुछ लोगों की जान बचाई जा सकती थी। वे एक घंटे तक कार में अंदर से चीख रहे थे।

Meerut: नगर आयुक्त ने मानी सफाई कर्मचारियों की मांग! शहर की सफाई व्यवस्था बहाल

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here