Hathras पहुंचा तृणमूल कांग्रेस के सांसदों का प्रतिनिधिमंडल, पुलिस की धक्कामुक्की में गिरने के बाद लगाए ये आरोप

हाथरस में उस ​गांव को पूरी तरह सील कर दिया गया है, यहां देश को झकझोर देने वाली घटना हुई थी। जनप्रतिनिधि, सामाजिक संगठनों और मीडिया को यहां गांव से बाहर ही रोक दिया गया है। जिला प्रशासन के अफसरों का कहना है कि एसआईटी की टीम जांच कर रही है, उनकी जांच में बाधा हो सकती है, इसलिए किसी को जाने नहीं दिया जा रहा है।

0
153

हाथरस। हाथरस केस (Hathras Case) ने पूरे देश को झकझोर कर रख दिया है। हाथरस के चंदपा क्षेत्र के गांव बूलगढ़ी को जिला प्रशासन (Hathras District Administration) ने पूरी तरह सील कर दिया है। यहां किसी को भी आने नहीं दिया जा रहा है। यह सिलसिला 30 सितंबर से लगातार चल रहा है। शुक्रवार को भी यही स्थिति​ बनी रही। जिला प्रशासन ने गांव की ओर जाने वाले हर रास्ते पर अफसर और फोर्स तैनात कर रखी है। तृणमूल कांग्रेस (Trinamool Congress) का प्रतिनिधिमंडल गांव जाने की कोशिश कर रहा था तो बलपूर्वक रोका गया। इस दौरान वह जमीन पर गिर गए। मीडियाकर्मियों (Media Persons) का भी ​आरोप है कि उन्हें कवरेज करने से रोका जा रहा है। जिला प्रशासन के रोकने पर वे धरने पर बैठ गए।

यह भी पढ़ें: रिया चक्रवर्ती कहकर महिला से छेड़छाड़ कर रहा था भाजपा नेता और उसका भाई, शिकायत पर जमकर चला हंगामा

तृणमूल कांग्रेस का प्रतिनिधिमंडल शुक्रवार को मृतका के गांव की ओर जाने लगा तो जिला प्रशासन की टीम ने इनको रोकने का प्रयास किया। जिसमें राज्यसभा सदस्य डेरेक ओ ब्रायन के साथ प्रशिक्षु आईएएस अधिकारी पीपी मीणा ने धक्का-मुक्की की। जिससे वह जमीन पर गिर पड़े। इसके बाद हंगामा होने लगा। तृणमूल कांग्रेस के सांसदों का चार सदस्यीय दल हाथरस आया हुआ है। डेरेक ओ ब्रायन हाथरस बॉर्डर पर धक्का-मुक्की में नीचे गिरे। इस दौरान प्रतिनिधि मंडल ने पुलिस पर अभद्रता करने का आरोप लगाया। सांसद डा. काकोली घोष, प्रतिभा मंडल और ममता ठाकुर पीडि़ता को गांव नहीं जाने दिया गया। डा. कालोली घोष दस्तीदार ने कहा कि डेरेक ओ ब्रायन पर हमला किया गया है। हमले में ब्रायन घायल भी हैं। इससे नाराज प्रतिनिधि मंडल ने में जमकर नारेबाजी की।

यह भी पढ़ें: Mayawati के करीबी रहे ​इस बसपा नेता के पुत्र ने थामा BJP का दामन, West UP में ब्राह्मणों को सहेजने की कवायद

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here