क्या कपड़े की एक पट्टी हत्या का राज भी खोल सकती है, पढ़िए ये खबर, हैरान रह जाएंगे

बिजनौर में युवक की हत्या का राज पुलिस ने खोला है। पुलिस को इस राज को खोलने में खासी मशक्कत करनी पड़ी, क्योंकि कुछ पता नहीं चल पा रहा था। लेकिन कपड़े की एक पट्टी ने हत्यारे तक पुलिस को पहुंचाया।

0
210

बिजनौर। Bijnor News, शुक्रवार को जनपद के ​गांव तरकौली के जंगल में ईंख के खेत में एक युवक का शव (Young Man Deadbody) मिला था। उसके हाथ बेल्ट से बंधे हुए थे और गले में कपड़े की एक पट्टी (Cloth Patti) पड़ी हुई मिली थी। इस पट्टी से युवक की गला दबाकर हत्या की गई थी। पुलिस (UP Police) जांच कर रही थी, लेकिन कोई क्लू (Clue) नहीं मिल पा रहा था। ​पुलिस ने शव के गले में पट्टी की जांच शुरू की तो हत्या का बड़ा राज (Murder Mistry) सामने आया। इससे पुलिस समेत हर कोई हैरान रह गया। जिस युवक की शिनाख्त तक नहीं हो रही थी, ​उस कपड़े की पट्टी ने पुलिस को हत्यारों तक पहुंचा दिया। पुलिस ने मुख्य आरोपी गिरफ्तार कर लिया है और उसके साथी की तलाश कर रही है। पुलिस के अनुसार युवक की हत्या प्रेम प्रसंग (Love Affair) में गुपचुप अश्लील वीडियो (Ashlil Video) बनाकर युवक को ब्लैकमेल (Blackmail) करने में युवक की हत्या किए जाने का खुलासा हुआ।

जनपद बिजनौर के गांव तरकौली के जंगल में ईंख के खेत में शुक्रवार को युवक का शव मिला था। जिसकी पहचान गांव शेखुपुरा लाला निवासी अभिषेक कुमार के रूप में हुई। युवक के हाथ बेल्ट से बंधे हुए व गले में कपड़े की पट्टी मिली थी। गांव महमदाबाद निवासी दीपक कुमार गांव शेखुपुरा लाला में दर्जी की दुकान करता है। उसका एक युवती से प्रेम प्रसंग चल रहा था। बताया गया कि मृतक अभिषेक कुमार ने दर्जी दीपक व युवती का अश्लील वीडियो बनाकर उसे ब्लैकमेल करता था। इससे नाराज दर्जी ने अपने एक साथी के साथ मिलकर मौत की योजना बनाई।

दीपक और उसका साथी युवक अभिषेक को नहटौर ले आए और उसे नशे की गोलियों से भरी कोल्ड ड्रिंक पिलाई। जब वह नशे की हालत में पहुंच गया तो उसे बाइक पर बैठाकर गांव तरकौली के जंगल में ले गए। उसके हाथ बेल्ट से बांधकर गले में कपड़े की पट्टी खींचकर उसकी हत्या कर दी। गले में जिस कपड़े की पट्टी का प्रयोग किया गया, वह ही कातिल के पास पहुंचने में अहम सुराग बनी। पैंट के कपड़े में जो कंपनी के मार्का की पट्टी होती हैं। अक्सर दर्जी उसे काट देते हैं। इसी कटी हुई पट्टी से वारदात को अंजाम दिया गया। डिटेल व मोबाइल लोकेशन से छानबीन करने पर दर्जी शक के घेरे में आ गया। पुलिस ने उसे हिरासत में लेकर कड़ी पूछताछ शुरू की तो उसने सबकुछ उगल दिया। उसकी निशानदेही पर मृतक युवक का मोबाइल भी बरामद कर लिया गया। उसका साथी अभी पुलिस पकड़ से बाहर है। कोतवाल सत्य प्रकाश सिंह का कहना है कि अन्य तथ्यों पर जांच चल रही है। उसके फरार साथी को लेकर दबिशें डाली जा रही हैं।

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here