पाकिस्तानी युवती की बुलंदशहर में हुई थी शादी, दादी बनने के बाद मिली भारत की नागरिकता, जानिए पूरा मामला

पाकिस्तान की लड़की फाखरा नौरीन की शादी बुलंदशहर के युवक नसीम के साथ 32 साल पहले हुई थी। शादी के बाद ही ​फाखरा ने भारत की नाग​रिकता के लिए आवेदन कर दिया था। अब जब वह दादी ​बन गई हैं, अब उन्हें भारत की नागरिकता प्रदान की गई है।

0
165

बुलंदशहर। पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के झेलम जनपद की गुलजारी कालोनी की फाखरा नौरीन की शादी 1988 में बुलंदशहर के मामन चौकी ​के नसीम के साथ हुई थी। उस समय ​वह लांग टर्म वीजा पर आयी थी। समय—समय पर उनके वीजा की ​अवधि बढ़ती रही, लेकिन शादी के तुरंत बाद ही भारत की नागरिकता के लिए आवेदन भी कर दिया था। शादी के 32 साल बाद फाखरा को भारत की नागरिकता मिली है। 55 साल की फाखरा दादी भी बन चुकी हैं।

यह भी पढ़ें: Meerut में Corona का कहर जारी, 24 घंटे में मिले 196 ​नए मरीज, 8 ​की मौत, संक्रमितों का आंकड़ा पहुंचा ​8356

शनिवार को एलआईयू अफसरों ने एसएसपी को यह जानकारी दी तो उन्होंने ​पाकिस्तान की बेटी को भारत की नागरिकता का सर्टिफिकेट दिया। पाकिस्तान की बेटी बुलंदशहर के मामन चौकी पर अपनी ससुराल में रह रही है। वह 32 साल से नागरिकता के लिए दर-दर की ठोकरें खा रही थी, अब आकर उनको ​भारतीय ​नागरिकता मिली है। शादी के दौरान फाखरा लांग टर्म वीजा पर भारत आयी थी। फाखरा का कहना है कि उसने भारतीय नागरिकता के लिए शादी के बाद ही आवेदन किया था, लेकिन हर बार उसके वीजा की अवधि बढ़ा दी जाती थी। शुक्रवार को लखनऊ से सर्टिफिकेट एलआईयू ऑफिस में पहुंचा। जिसमें बताया गया कि फाखरा को भारत की नागरिकता दे दी गई है। शनिवार की सुबह एसएसपी संतोष कुमार सिंह ने बताया कि फाखरा को उसकी नागरिकता का सर्टिफिकेट दिया गया है।

यह भी पढ़ें: West UP में बारिश नहीं होने से बढ़ी गर्मी और उमस, अभी ​करना पड़ेगा इतने दिन इंतजार

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here