बैंकों की ठगी के खिलाफ सड़कों पर उतरे लोग, लोन के नाम पर चल रही थी ठगी

बैंकर्स लोन सेंनसन होने के बाद भी मांग रहे थे 20 हजार रुपए, पीड़ित ने बैंक के बाहर किया प्रदर्शन

0
284

मेरठ: बैंको में लोन के नाम पर लोगों से किस तहर ठगी की जा रही है इसका ताजा उदाहरण सोमवार को बागपत रोड़ स्थित Axis bank में देखने को मिला। जहां 20 हजार रूपए की रिश्वत नही देने पर बैंक कर्मचारियों ने लोन कैंसिल करने की धमकी दी। जिसके विरोध में सैकड़ों युवक बैंक के गेट पर पहुंच गए और धरने पर बैठ गए। लोगों ने हाथों में बैनर लेकर Axis bank हाय-हाय के नारे भी लगाए। पीडित लोगों ने डीएम को ज्ञापन देने की बात भी कही है।

Agra में हुए तीहरे हत्याकांड से मचा कोहराम, घर में सोते हुए दंपति और बेटे की हत्या, शवों को जलाने की भी कोशिश

जानकारी के अनुसार मलियाना निवासी अनित चौधरी मेडिकल स्टोर चलाते है। उनका Axis bank बैंक में खाता है। बताया गया कि  उन्होने मकान खरीदने के लिए बैंक में लोन के लिए आवेदन किया। जहां उन्हे बैंक वालों ने बताया कि आपकी 3 साल की आरटीआई‚ बैंक पासबुक‚ मेडिकल स्टोर का रजिस्ट्रेशन‚ पैन कार्ड‚ आधार कार्ड और प्रॉपर्टी के सभी दस्तावेज चाहिए। साथ ही फाइल चार्ज के रूप में 5900 रूपए का एक चैक भी मांगा गया।

डंपिंग ग्राउंड बनी मवाना की मिल रोड, कॅालोनी के बच्चों में फैल रही बीमारियां

20 हजार की रिश्वत मांगने का आरोप

अनित चौधरी ने उक्त सभी दस्तावेज तैयार कराकर बैंक को सौंप दिए। इस बीच बैंक कर्मचारियों ने प्रॉपर्टी की खसरा-खतौनी की मांग की जिसे अनित ने तहसील से निकलवाकर बैंक में जमा करा दिया। इस दौरान उसके खाते से 5900 रूपए फाइल चार्ज काट लिया गया। 22 अगस्त को उनके पास एक मैसेज आया जिसमें 6 लाख का लोन सेंशन होना बताया गया। अनित चौधरी संतुष्टी के लिए बैंक पहुंच तो बैंक कर्मचारियों ने 20 हजार रूपए की रिश्वत मांगी और नही देने पर लोन कैंसिल कराने की धमकी दी है। जिसके बाद लाेन के नाम पर बैंक द्वारा इस तरह परेशान करने और रिश्वत मांगने को लेकर अनित के पक्ष में सैकड़ो युवा बैंक के गेट पर धरना देकर बैठ गए और आरोपी बैंक कर्मचारियों के खिलाफ कार्यवाही की मांग की। इस संबंध में जिलाधिकारी से लेकर मुख्यमंत्री और वित्त मंत्री को शिकायत भेजी गई है।

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here