बागपत। जनपद (Baghpat District) में सौहार्द और भाईचारे के नाम पर विनयपुर गांव की मस्जिद में हनुमान चालीसा और गायत्री मंत्र पढ़ने की इजाजत देने वाले मौलाना (Maulana) को मस्जिद (Mosque) से निकाल दिया गया है। मौलाना अपना सामान लेकर गाजियाबाद के लोनी (Loni) चला गया। गुपचुप तरीके से मुस्लिस समाज (Muslim Samaj) के लोगों की बैठक में यह फैसला हुआ। मौलवी के समर्थन में हिंदू समाज (Hindu Samaj) के लोग पंचायत करने की तैयारी में जुट गए हैं।

यह भी पढ़ें: Baghpat के स्वास्थ्य केंद्र पर स्टाफ नर्स और सफाई कर्मचारी में जमकर मारपीट, ये वजह आयी सामने

खेकड़ा क्षेत्र के विनयपुर गांव में भाजपा नेता मनुपाल बंसल ने मंगलवार को मस्जिद में मौलाना अली हसन से इजाजत लेने के बाद भाईचारे के लिए मस्जिद में हनुमान चालीसा का पाठ किया था। मौलाना अली हसन ने इसकी इजाजत दी थी।
हनुमान चालीसा के पाठ को फेसबुक पर भी लाइव किया गया। गायत्री मंत्र भी पढ़ा गया। इसे लेकर सोशल मीडिया पर तरह-तरह की प्रतिक्रियाएं मिल रही थीं।

यह भी पढ़ें: Muzaffarnagar: गंगा हाफ मैराथन में मेरठ की ज्योति सभी एथलीटों पर ​पड़ी भारी

बुधवार को मामले में नया मोड़ तब आया जब मुस्लिम समाज के लोगों ने नाराजगी जाहिर की। गोपनीय तरीके से बैठक हुई और मौलाना को मस्जिद से निकाल दिया गया। मौलाना गाजियाबाना के लोनी में चला गया है। उधर, मनुपाल बंसल का कहना है कि यह गलत है। मौलाना ने तो भाईचारे का संदेश दिया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here