गिफ्ट में मोबाइल देने के बहाने 19 साल बड़ी प्रेमिका को दी खौफनाक सजा, होटल के रूम नंबर 121 का है ये सच

आगरा में एक प्रेम कहानी का अंत होटल के एक रूम में हो गया। प्रेमी ने अपने से बड़ी प्रेमिका को ऐसी सजा दी कि पुलिस भी हैरान रह गई। हत्यारोपी प्रेमी को गिरफ्तार कर लिया गया है।

0
219

आगरा। 19 साल के प्रेमी युवक ने होटल के रूम नंबर 121 में अपने से 19 साल बड़ी प्रेमिका को गिफ्ट में मोबाइल देने के बहाने ऐसी खौफनाक सजा दी कि हर ​कोई हैरान रह गया। पुलिस ने आरोपी प्रेमी को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी प्रेमी का कहना है कि प्रेमिका पिछले काफी दिनों से किसी ​और से मोबाइल पर बात कर रही थी, उसे शक था कि वह किसी अन्य युवक से बात करने लगी है। होटल में बुलाकर उसने बेल्ट से प्रेमिका का गला घोंटकर हत्या की दी और वहां से फरार हो गया था।

यह भी पढ़ें: Meerut: मामूली विवाद में दो पक्षों के बीच संघर्ष, जमकर हुई फायरिंग, 12 लोग घायल, फोर्स तैनात

सिकंदरा तिराहे के पास सिकंदरा गेस्ट हाउस एंड रेस्टोरेंट के कमरा नंबर 121 का खौफनाक सच आरोपी ने पुलिस के सामने कबूल किया है। बाईंपुर निवासी प्रीति का पति लिखेंद्र बघेल टेंपो चालक है। उनके तीन बच्चे हैं। प्रीति एक फैक्टरी में काम करती थी। नगला बूढ़ी, थाना न्यू आगरा निवासी आरोपी लखन (19) बाईंपुर स्थित फैक्टरी में बैग बनाने का काम करता था। दोनों में जान-पहचान हुई जो पहले दोस्ती और फिर प्यार में बदल गई। दोनों अक्सर सिकंदरा के होटलों और गेस्ट हाउस में मिलते थे। आरोपी लखन ने पुलिस को बताया कि ​प्रीति और मेरे दो साल से प्रेम संबंध थे। वह मुझसे 70 हजार रुपये ले चुकी थी, अब और मांग रही थी। मुझे यह भी पता चला कि उसने किसी और से भी दोस्त कर ली है। इसलिए उसे मोबाइल उपहार में देने के बहाने गेस्ट हाउस में बुलाया और बेल्ट से गला घोंटकर ठिकाने लगा दिया। मुझे मालूम नहीं था कि गेस्ट हाउस में कैमरे लगे हैं, वरना कहीं और हत्या करता। पुलिस का कहना है कि फुटेज से उसके चेहरे का मिलान हो गया है।

यह भी पढ़ें: गर्भवती​ पत्नी को इस बात पर घर से निकाला और मोबाइल पर कह दिया तीन तलाक

एसपी सिटी बोत्रे रोहन प्रमोद ने बताया कि आरोपी ने बताया है कि गेस्ट हाउस में प्रीति ने कहा कि दिखाओ कौन सा मोबाइल लाए हो। उसने कहा कि आंख बंद करो, अभी दिखाता हूं। जैसे ही उसने आंख बंद कीं, वैसे ही हाथों से उसका गला घोंट दिया। कहीं वह जीवित न रह जाए, इस आशंका में बेल्ट से भी गला घोंट दिया। पुलिस की पूछताछ में आरोपी लखन ने बताया कि प्रीति पहले टिफिन सर्विस का काम करती थी। उसने भी उससे टिफिन लगाया था। वह अक्सर होटल में मिलते थे। प्रीति बात-बात पर रुपयों की मांग करती थी। लॉकडाउन के बाद से उसका काम ठीक नहीं चल रहा था। पांच दिन पहले नौकरी भी चली गई थी। साथ ही उसे पता चला था कि प्रीति उसके अलावा भी किसी ओर युवक से फोन पर बातें करती है। इस​लिए उसका गुस्सा चरम पर पहुंच गया था।

यह भी पढ़ें: CM Yogi मेरठ में Corona से हो रही मौतों पर बिफरे अफसरों पर, कहा- नहीं सुधरे तो कार्रवाई को रहें तैयार

होटल के रूम नंबर ​121 ​में जब यह वारदात हुई तो वहां कमरे में सीसीटीवी कैमरे लगे हुए थे। इसमें प्रेमी—प्रेमिका के बीच जो कुछ हुआ, पुलिस ने फुटेज अपने ​कब्जे में करके जांच शुरू कर दी थी। आरोपी लखन का ​मिलान फुटेज से हो जाने पर पुलिस ने उसे गिरफ्तार किया। यहां एक बात और पुलिस के सामने आयी। वह यह है कि ​होटल कर्मियों ने प्रीति की हत्या हो जाने के बाद आनन-फानन में फर्जी आईडी से कमरे का रजिष्ट्रेशन कर लिया था, पहले यहां पुलिस को बताया गया था कि महिला के साथ आए युवक ने रायबरेली के फुर्सतगंज निवासी संदीप गुप्ता के नाम की आईडी लगाई है। यह आईडी फर्जी थी। आरोपी लखन को गिरफ्तार करने के बाद पुलिस ने आईडी के बारे में पूछताछ की। उसने बताया कि उसने बिना आईडी के कमरा लिया था। वह हर बार यही करता था।

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here