पंचायत चुनाव से पहले शातिरों पर शिकंजा कसेगी पुलिस, ADG ने गांवों से जुडें मामलों के निस्तारण के दिए निर्देश

अवैध हथियारों की खरीद-फरोख्त पर भी रखी जाएगी नजर, विशेष रुप से गांवों की गतिविधियों पर नजर रखने के निर्देश

0
333

मेरठ। गांवों में पंचायत चुनावों की तैयारी जोरो-शोरो पर चल रही है। प्रत्याशियों ने ग्राम पंचायतों में शराब तक का वितरण शुरु कर दिया है। इसी का संज्ञान लेते हुए एडीजी जोन राजीव सबरवाल ने पहले से गांव संबंधी सभी विवादों के निस्तारण करने के लिए कहा है। साथ ही अपराधियों पर भी शिकंजा कसने के लिए निर्देश दिए हैं। जो गंभीर धाराओं में जेल से छूटे अपराधी हैं उन पर  चुनाव के मद्देनजर निगरानी रखी जाएगी। इसके अलावा लाइसेंसी असलाह भी चुनाव से पहले जमा कराने के निर्देश हैं।

Meerut में दबंगों ने पत्रकार पर किया जानलेवा हमला, वारदात में बड़ा भाई घायल 

उपद्रव करने वालों को चिहिन्त कर सीओ की निगरानी में उन्हें अपराध नियंत्रण की धाराओं में पाबंद करें। एडीजी मेरठ राजीव सब्बरवाल ने जोन के सभी एसएसपी को निर्देश दिए हैं। जिलों में अपराध पर पुलिस के द्वारा किया गया कार्य काफी संतोषजनक पाया गया है। लेकिन अपराधियों पर कार्रवाई करने के लिए लक्ष्य निर्धारित किया गया है। इसमें गैंगेस्टर में निरुद्ध किए गए अपराधियों की संपत्ति को सीज करने का आदेश दिया गया है। इसके अलावा जो और अपराधी बचे है। उनको चिन्ह्त कर उनका गैंगेस्टर में चालान कर उनकी संपत्ति को सीज किया जाए।
Amroha: पर्यावरण सुरक्षा का केंद्र बनी SDM की कोर्ट, पौधे लगाने की शर्त पर मिल रही जमानत

एडीजी ने मातहतों के लिए लक्ष्य निर्धारित किया। इसमें गोकशी में गैगेस्टर में निरुद्ध किए गए लोगों के अलावा अवैध शराब कारोबारियों के विरुद्ध कार्रवाई, अवैध शस्त्रों की रिकवरी कर उसको रखने वालों पर कड़ी कार्रवाई के अलावा गांव में शातिर लोगों पर शिकंजा कसने के निर्देश दिए हैं। बागपत में हो रही लगातार वारदातों पर अंकुश लगाने के उद्देश्य से वहां के एसपी को विशेष सतर्कता बरतने के निर्देश दिए गए हैं।  हालाकि पंचायत चुनाव की अभी कोई अधिसूचना जारी नहीं हुई है। पंचायतराज मंत्री पहले ही चुनाव टालने की बात कह चुके हैं।

Mawana में डॅाक्टर ने किया युवती से रेप, दवाई देने के बहाने बुलाई थी घर

हथियारों की खरीद-फरोख्त पर नजर

खासकर वेस्ट यूपी पंचायत चुनाव से पहले हथियारों की तस्करी शुरु हो जाती है। हर पंचायत चुनाव में दर्जनों अवैध रुप से हथियार बनाने वाली फेक्ट्री पकड़ी जाती हैं।  मेरठ जिले में भी कुछ दिनों पहले खरखौदा के हिमायुपुर गांव में अवैध फेक्ट्री पकडी गई थी. इसके अलावा किठौर थाना क्षेत्र के गांव रार्धना व सोंदत्त में हथियार बनाने की अवैध फेक्ट्री पकड़ी जा चुकी हैं। ऐसी सभी गतिविधियों पर नजर रखने के लिए एडीजी ने निर्देश दिए हैं। ताकि पंचायत चुनावों को ठीक ढंग से संपन्न कराया जा सके।

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here