जहरीली शराब से हुई मौत पर सपा की महापंचायत, प्रदेश सरकार को घेरा

0
442

मेरठ। अवैध जहरीली शराब से तीन ग्रामीणों की मौत के मामले में सपा की एक महापंचायत हुई। महापंचायत में सपा नेता अतुल प्रधान ने जहरीली शराब से हुई लोगों की मौत के लिए प्रदेश सरकार को दोषी कहा।
जहरीली शराब से हुई ग्रामीणों की मौत के मामले में मीरपुर जखेड़ा मे सपा की महापंचायत हुई। बुधवार करीब 12 बजे महापंचायत शुरू हुई। दर्जनों गांव के हजारों लोग महापंचायत में शामिल हुए पुलिस प्रशासन कोरोना महामारी का हवाला देकर और भाजपा नेताओं के दबाव में महापंचायत रोकने का प्रयास कर रहा था।
मामला मीरपुर जाखेड़ा गांव का है जहां पर जहरीली शराब पीने से तीन युवकों की मौत हो गई थी जिसके बाद सपा ने परिवार से मिलकर 16 तारीख को महापंचायत का ऐलान कर दिया था। जिसके बाद जिले से सैकड़ों की संख्या में सपा कार्यकर्ता और पदाधिकारी मीरपुर जखेड़ा गांव पहुंचे और प्रदेश सरकार और जिले के पुलिस प्रशासन और आबकारी विभाग के खिलाफ एक महापंचायत आयोजित की।
जिसमें सपा नेता अतुल प्रधान ने कहा कि कोरोना काल में जिस तरह से शराब के ठेके खुले रहे और अवैध शराब बिकती रही। इस पर उत्तर प्रदेश सरकार ने रोक नहीं लगाई। प्रदेश सरकार और जिला पुलिस प्रशासन प्रशासन की नाक के नीचे जहरीली शराब का धंधा पनप रहा है। जिसको रोकने में जिला प्रशासन पुलिस प्रशासन और आबकारी विभाग नाकाम साबित हो रहा है जहरीली शराब पीने से नौजवानों की मौत हो रही है

सपा द्वारा आयोजित महापंचायत में पहले से ही पुलिस प्रशासन ने पुख्ता इंतजाम किए हुए थे। सीओ सरधना और एसडीएम सरधना मौके पर ही मौजूद थे। कई थानों की फोर्स को भी मीरपुर जाखेड़ा गांव में लगाया गया था। पुलिस ने सपा के कार्यकर्ताओं व नेताओं से महापंचायत न करने को कहा था। लेकि​न धारा 144 लागू होने के बाद भी सपा ने महापंचायत का आयोजन किया। महापंचायत में कांग्रे

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here