मेरठ। रविवार को दशहरा (Dussehra 2020) है। कोरोना लॉकडाउन (Corona Lockdown) के बाद नवरात्र (Navratri 2020) मनाने के उपरांत लोगों में दशहरे को लेकर काफी हर्षोल्लास देखा जा रहा है। लॉकडाउन (Lockdown) में ​अपने बिगड़े कामों (Deteriorate Works) को सुधारने का यह मौका भी है। इसके लिए विजयदशमी (Vijayadashami 2020) का दिन शुभ (Shubh Day) है। इसके लिए जरूरी है कि शुभ मुहूर्त (Shubh Muhurat) में पूजा की जाए। रविवार को दोपहर के समय दशहरा पूजन (Dussehra Pujan) का विशेष समय ​1.12 ​से लेकर ​2.57 बजे तक है।

यह भी पढ़ें: कक्षा 12 की छात्रा एक दिन के लिए बनी थाना प्रभारी तो सुधर गई व्यवस्था, जानिए इस बेटी ने क्या-क्या किया

दशहरा त्योहार लोगों को कई तरह की प्रेरणा देता है। जैसे- पाप काम, क्रोध, लोभ, मोह, मद, मत्सर, अहंकार, आलस्य, हिंसा और चोरी को त्यागने की प्रेरणा ​देता है। ज्योतिषाचार्य पंडित महेंद्र कुमार शर्मा का कहना है कि दशहरे के दिन शुभ मुहूर्त में की गई पूजा-अर्चना से सभी कार्य सफल होते हैं। उनके ​अनुसार 25 अक्टूबर 2020 रविवार को विजयदशमी पर्व है। शुक्ल पक्ष की दशमी ​तिथि, तुला का सूर्य साथ में बुध का संयोग और धनिष्ठा ​नक्षत्र के योग से इस विजयदशमी पर बेहद शुभ है।

उनके अनुसार दशहरे के दिन किसी भी तरह का लेन-देन शुभ माना जाता है। विजयदशमी पर कुछ ऐसे शुभ मुहूर्त हैं, जिसमें राहुकाल ​का भी दोष नहीं होता। इस दिन मां दुर्गा ने महिषासुर का संहार भी किया था भगवान श्रीराम ने दशानन का वध करने से पहले मां दुर्गा की पूजा-अर्चना इसी दिन की थी।

पूजा के शुभ मुहूर्त
ज्योतिषाचार्य के अनुसार विजयदशमी पर्व पर परिवार के साथ पूजा करने का शुभ मुहूर्त 25 अक्टूबर, रविवार को दोपहर 1.12 से ​2.57 बजे तक है। देवी सरस्वती का पूजन सुबह 9.16 से 12.04 तक करना शुभ है। बहीखाता पूजन सुबह 10.40 से ​12.15 तक करना शुभ रहेगा। क्षत्रिय शस्त्र पूजन दोपहर 1.30 से 2.52 बजे तक शुभ है, जबकि रावण पुतला दहन के ​लिए समय शाम 5.41 से रात 8.53 बजे तक श्रेस्कर होगा।

यह भी पढ़ें: त्योहारी सीजन में बिजली विभाग लोगों को देने जा रहा ये तोहफा, खबर पढ़ेंगे तो खुश हो जाएंगे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here