Meerut: गर्मी और उमस से बढ़ी मुश्किलें, बारिश के लिए अभी तरसेंगे लोग

मौसम सिस्टम का दबाव ​दक्षिण की ओर है। इसकी वजह से वेस्ट यूपी के जनपदों में बारिश की संभावना नहीं बन रही है। इसलिए गर्मी और उमस बढ़ गई है।

0
177

मेरठ। मेरठ समेत वेस्ट यूपी के जनपदों में इस महीने बारिश की संभावना कम ही बन रही हैं। अब तक भी बारिश के लिए तरसते ही रहें हैं। इसकी वजह से गर्मी और ​उमस से परेशान हैं। शनिवार को बूंदाबांदी से उमस बढ़ गई तो रविवार की सुबह भी आसमान में बादल छाए हुए हैं, लेकिन बारिश की उम्मीद नहीं है। मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि ​सितंबर में बारिश की संभावना नहीं है। इस बार ​औसत से कम बारिश हुई है।

यह भी पढ़ें: Meerut: कोरोना के नए 129 केस मिले, संक्रमितों में सिटी मजिस्ट्रेट और चार डॉक्टर भी शामिल

शनिवार को बूंदाबांदी से पहले शुक्रवार को पूरे दिन गर्मी से सामना हुआ और उमस ने भी बेहद परेशान किया था। शनिवार को भी साफ आसमान पर सूरज की तेज चमक के साथ ही दिन की शुरुआत हुई थी। पूरे सप्‍ताहभर ही बारिश के कोई आसार नहीं बने। इस बार वेस्‍ट यूपी में हर साल की अपेक्षा बारिश कम हुई है। गुरुवार को दिनभर तेज धूप रहने के बाद रात में भी तापमान में तेजी दर्ज की गई थी। मंगलवार को भी सुबह की शुरुआत तेज धूप के साथ हुई थी और आसमान एकदम साफ नजर आया था। पूरे दिन गर्मी और उमस ने परेशान किया। हालांकि सोमवार की दोपहर में आसमान पर बादलों के गश्‍त करने से यह लगने लगा था कि बारिश होगी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ।

यह भी पढ़ें: कुख्यात ​बदमाश आशु जाट मुंबई में गिरफ्तार, मिर्ची गैंग का West UP में आतंक

कोरोना संक्रमण काल में वेस्ट यूपी में बारिश कम हुई। उससे पहले मार्च तक हालांकि काफी बारिश हुई थी। सावन के महीने में भी लोग बारिश होने का इंतजार करते रह गए, लेकिन औसत से कम बारिश हुई। सितंबर में बारिश की संभावना कम लग रही है। मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि मौसम सिस्टम का दबाव ​दक्षिण की ओर है। इसकी वजह से वेस्ट यूपी के जनपदों में बारिश की संभावना नहीं बन रही है। इसलिए गर्मी और उमस बढ़ गई है।

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here