Meerut: इस बार पंचायत चुनाव भी जोर-शौर से लड़ेगी भाजपा, संगठन ने अभी से झोकी ताकत, गांवों का दौरा करने लगे पदाधिकारी

0
144

meerut: पूरे देश में सत्ता पर काबिज भारतीय जनता पार्टी इस बार पंचायत चुनावों को लेकर भी गंभीर दिख रही है। तभी तो भाजपा के संगठन पदाधिकारियों ने गांवों में चौपाल लगाना शुरु कर दिया है। इस बार पार्टी ग्राम प्रधान से लेकर पंचायत सदस्य तक सभी पर अपने पक्ष का का उम्मीदवार उतारना चाहती है। इसके पीछे भाजपा का धेय बूथ मजबूत करना माना जा रहा है। ताकि 2022 में पार्टी की जीत निश्चित हो सके।

मुरादनगर हादसे के जिम्मेदार ठेकेदार, इंजीनियर से नुकसान की पाई-पाई वसूलेगी सरकार

पंचायत चुनाव तिथि की घोषणा अभी तक नहीं हुई है। लेकिन इसकी तैयारी में जो दल सबसे आगे है वह है भाजपा। सत्तारूढ भाजपा पंचायत चुनाव के बहाने 2022 से लेकर 2024 तक की रणनीति पर काम कर रहा है। यानी 2022 में उप्र में विधानसभा चुनाव और उसके बाद देश में 2024 में होने वाले लोकसभा का किला मजबूत करना भाजपा का लक्ष्य है। वैसे भी इस समय भाजपा संगठन दलीय स्थिति के लिहाज से सबसे अधिक मजबूत है। कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों की फौज के साथ ही संघ जैसा मजबूत राणनीति तैयार करने वाला संगठन भाजपा के कंधा से कंधा मिलाकर काम कर हा है।इन्हीं सब के सहारे पार्टी ने पंचायत चुनाव जीत की रणनीति का तानाबाना बुनना शुरू कर दिया है। भाजपा ने मुख्य रूप से लोकसभा चुनाव की रणनीति पर काम करते बूथों को सपा-बसपा मुक्त बनाने के अभियान में नए सिरे से जुटने का फैसला किया है। साथ ही गांवों में जनाधार को और मजबूत बनाने के साथ जातीय समीकरण ठीक करने को यादव-जाटव जोड़ो अभियान पर नजरें टिकाई हैं।

केंद्र और किसानों के बीच 7वें दौर की वार्ता भी रही बेनतीजा, जानिए आगे की रणनीति
ये बनाई रणनीति

पार्टी के रणनीतिकारों ने सभी छह क्षेत्रों में भाजपा के एक पदाधिकारी और सरकार के एक मंत्री को नियुक्त करते हुए पंचायत चुनाव के सहारे गांवों में विपक्ष की जड़ों को कमजोर करने की रणनीति बनाई है। प्रत्येक मंडल में पार्टी के पदाधिकारियों को हर गांवों के उन प्रमुख लोगों की सूची बनाने को कहा है जो स्थानीय स्तर पर चुनाव को प्रभावित करते हैं, पर इस समय सपा और बसपा से जुड़े हुए हैं। ऐसे लोगों में ज्यादातर को भाजपा के पक्ष में लामबंद करने की योजना है। इसी तरह जातीय समीकरण के मद्देनजर भी ग्राम पंचायतवार उन जातियों पर फोकस करने का फैसला किया गया है, जिनका वोट अभी तक भाजपा को अपेक्षाकृत कम मिलता है।

क्या कहना है इनका

बीजेपी वेस्ट यूपी के अध्यक्ष मोहित बेनिवाल ने बताया कि पार्टी ने पंचायत चुनाव की तैयारी कर दी है। अन्य चुनावों की तरह पार्टी पंचायत चुनावों में भी जीत का परचम लहरायेगी।

 

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here