मेरठ। कोरोना (Corona) संक्रमण के कारण लॉकडाउन (Lockdown) में पीवीवीएनएल (PVVNL) के अफसरों और कर्मचारियों ने गर्मियों में लोगों निर्बाध बिजली देकर परेशानी से बचाए रखा तो अनलॉक (Unlock) होने के बाद अब पीवीवीएनएल त्योहारी सीजन (Festival Season) में लोगों को खुशखबरी (PVVNL Good News) दे रहा है। पीवीवीएनएल के प्रबंध निदेशक (PVVNL MD) अरविंद मल्लप्पा बंगारी ने विभागीय अफसरों को निर्देश दिए हैं कि त्योहारों के दिनों में न तो वे बकाएदारों के कनेक्शन काटने (Disconnection Abhiyan) का अभियान चलाएं और न ही बिजली आपूर्ति में कमी होने दें। उन्होंने ये निर्देश पीवीवीएनएल से जुड़े वेस्ट यूपी के ​14 जनपदों के लिए जारी किए हैं।

यह भी पढ़ें: अस्पताल संचालक के बेटे ने ​Receptionist को ​बाथरूम में खींचने का किया प्रयास, भेजी अश्लील वीडियो, जमकर हंगामा

पीवीवीएनएल के अंतर्गत मेरठ, बागपत, गाजियाबाद, गौतमबुद्ध नगर, हापुड़, बुलंदशहर, बिजनौर, अमरोेहा, संभल, रामपुर, मुरादाबाद, सहारनपुर, मुजफ्फरनगर और शामली जनपद आते हैं। पिछले दिनों ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा के निर्देश पर पीवीवीएनएल के अफसरों ने ​सभी 14 जनपदों में 10 हजार रुपये से ऊपर के ​बकाएदारों के खिलाफ क​ड़ाई से अभियान चलाया था और उनके कनेक्शन काट दिए थे। साथ ही अभियान चलाकर बिजली चोरी करने वालों पर लगाम कसी थी। पीवीवीएनएल के अंतर्गत इन 14 जनपदों में बकाएदार अभी ​भी बिजली का बिल नहीं दे पा रहे हैं। उनका कहना है कि लॉकडाउन में कामकाज या नौकरी गंवाने के बाद उन्हें बकाया देने में दिक्कतें आ रही हैं। इसी को ध्यान में रखते हुए पीवीवीएनएल के ​एमडी अरविंद मल्लप्पा बंगारी ने सभी 14 जनपदों के अफसरों को त्योहारों के दिनों में ​​बकाएदारों के खिलाफ कनेक्शन काटने का अभियान नहीं चलाने के निर्देश दिए हैं। साथ ही उन्होंने कहा है कि त्योहारी सीजन में उपभोक्ताओं का ​निर्बाध बिजली मिले, इसके इंतजाम किए जाएं।

पीवीवीएनएल के एमडी ने मेरठ समेत डिस्काम के 14 जिलों के अधीनस्थ अधिकारियों से कहा है कि दशहरे पर 24 घंटे बिजली आपूर्ति का शेड्यूल है। जिसका पालन सुनिश्चित कराया जाए। आगे करवाचौथ, धनतेरस और दीपावली के त्योहार भी हैं। सभी त्योहारों के लिए यह आदेश लागू होगा। त्योहारों के दिन किसी भी कार्य के लिए या मेंटिनेंस वर्क के लिए शटडाउन नहीं दिया जाएगा। शटडाउन की स्थिति केवल इमरजेंसी मेंटिनेंस के लिए ही मान्य होगी। सभी अधीक्षण अभियंता, अधिशासी अभियंता और एसडीओ अपने-अपने कार्य क्षेत्र में निर्बाध बिजली आपूर्ति की व्यवस्था चुस्त-दुरुस्त रखेंगे। ड्यूटी पर सभी अधिकारी व कर्मचारी मुस्तैद रहेंगे। कहीं पर भी फाल्ट होता है तो तत्काल अटेंड किया जाएगा।

यह भी पढ़ें: युवक की दुर्घटना में मौत के बाद चिकित्सकों ने Postmortem करने से किया इनकार, शव को हाथ तक नहीं लगाया, जानिए क्यों

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here