अवैध हथियारों की सप्लाई कर रहा था मेंढक, पुलिस पहुंची उसके पीछे-पीछे तो पकड़ी गई बड़ी तमंचा फैक्ट्री​

वेस्ट यूपी में तमंचे बनाने का धंधा जोरों पर है। यूपी में पंचायत चुनाव भी आ रहे हैं, ऐसे में अवैध हथियारों की सप्लाई गुपचुप तरीके से हो रही है। मेरठ में पिछले आठ दिनों में दो तमंचे बनाने की फैक्ट्री पकड़ी गई हैं।

0
203

मेरठ। जनपद में पुलिस ने सोमवार को तमंचा फैक्टरी का भंडाफोड़ किया है। पुलिस की छापेमारी में ‘मेंढक’ की बड़ी भूमिका रही। पिछले सप्ताह ब्रह्मपुरी क्षेत्र में तमंचा बनाने की फैक्ट्री पकड़ी गई थी तो सोमवार को लिसाड़ी गेट क्षेत्र में तमंचे बनाने वाली फैक्ट्री पकड़ी गई है। पुलिस ने ​दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। यहां से पुलिस ने 71 तैयार और बिन तैयार तमंचे बरामद किए है। माना जा रहा है कि यूपी में पंचायत चुनाव के मद्देनजर अवैध ​हथियार तैयार किए जा रहे थे। पुलिस आरोपियों से पूछताछ कर रही है।

यह भी पढ़ें: इस अंदाज में पहुंचा आईपीएस अफसर तो नहीं पहचान पाए पुलिसकर्मी…फिर ये हुआ

तमंचा फैक्ट्री लिसाड़ी गेट के अलीबाग में चल रही थी। पुलिस के अनुसार यह फैक्ट्री साबिर चला रहा था। यहां से बने तमंचों की सप्लाई गोला कुआं इस्लामाबाद निवासी समीर उर्फ मेंढक करता था। समीर शातिर किस्म का बदमाश है और पुलिस ने उस पर 25 हजार रुपये का इनाम रखा था, जबकि दिल्ली में वह एक लाख रुपये का वांछित इनामी बदमाश है। ​इंस्पेक्टर प्रशांत कपिल ने बताया कि तमंचा फैक्ट्री चलाने वाले दो आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। इसमें समीर पर इनाम है। इससे पहले, ब्रह्मपुरी पुलिस ने फुरकान नाम की अपराधी को पकड़ा था। वह हथियारों की सप्लाई करता था। एसपी सिटी डॉक्टर अखिलेश नारायण सिंह का कहना है कि तमंचे को मेरठ के अलावा दूसरे जनपदों में भी सप्लाई किया जा रहा था। पुलिस अभी यह जांच कर रही है कि कहां- कहां पर तमंचे सप्लाई हो रहे थे।

यह भी पढ़ें: बेटी ने आगे पढ़ने की जिद की तो पिता ने उस पर लगा दिए गंभीर आरोप…दे दी जान

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here