मेरठ। जनपद के भावनपुर क्षेत्र में ऐसा सनसनीखेज मामला सामने आया है कि हर कोई हैरान है। सामूहि​क दुष्कर्म (Gangrape) की शिकार छात्रा (Student) से पंचायत (Panchayat) ने एक आरोपी का निकाह (Nikah) करा दिया, उसके बाद ससुराल में जब वह पति (Husband) के साथ रहने लगी तो दुष्कर्म के अन्य ​आरोपियों (Gangrape Accused) यानी पति के दोस्तों ने भी नवविवाहिता छात्रा से संबंध बनाने का दबाव डाला। इसका उसने विरोध किया तो पति ने उसे घर से निकाल दिया। न​वविवाहिता ने पुलिस अफसरों (Police Officers) से न्याय की गुहार लगाई है। अफसरों ने आश्वासन दिया है।

यह भी पढ़ें: Jayant Chaudhary पर लाठीचार्ज के विरोध में RLD कार्यकर्ताओं ने किया हंगामा, हाइवे पर मुख्यमंत्री का पु​तला फूंका

भावनपुर के एक गांव की युवती स्‍नातक की पढ़ाई कर रही थी। इसी साल फरवरी में कॉलेज जाते समय तीन युवकों ने युवती को कार में जबरन बैठा लिया और उसके बाद तीनों युवक छात्रा को जंगल ले गए और सामूहिक दुष्कर्म किया। विरोध करने पर आरोपी छात्रा को जान से मारने की धमकी देकर फरार हो गए थे। पीड़िता ने इस बारे में परिजनों को बताया तो गांव में पंचायत बैठ गई। पंचायत ने पीड़िता का निकाह सामूहिक दुष्कर्म के एक आरोपी से करा दिया था। निकाह के बाद पीड़िता ससुराल में रहने लगी। सामूहिक दुष्कर्म की घटना को अंजाम देने वाले अन्य आरोपी पीड़िता से जबरन शारीरिक संबंध बनाने का दवाब डालने लगे।

यह भी पढ़ें: Muzaffarnagar: तेज गति से ट्रक ने पीछे से बाइक में मारी टक्कर, पिता-पुत्री समेत तीन की मौत, मचा कोहराम

पीड़िता ने विरोध किया तो उसके पति ने उसे घर से निकाल दिया। इसकी सूचना भावनपुर थाने में दी तो ​पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। इसके बाद पीड़िता ने पुलिस आफिस पहुंचकर अपना दर्द सुनाया तो ​अफसरों ने जांच कराकर कार्रवाई का आश्वासन दिया है। सीओ सदर देहात बृजेश कुमार का कहना है कि पीड़िता की शिकायत पर पति और उसके दोस्तों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया जा रहा है। फरवरी में दुष्कर्म के आरोपों की जांच के बाद कार्रवाई करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here