कृषि कानूनों के खिलाफ आक्रोश: किसानों ने NH-58 पर सिवाया टोल फ्री कराया

0
118

मेरठ। कृषि कानूनों के खिलाफ देश भर में आक्रोश फैलता जा रहा है। किसान संगठन केंद्र सरकार पर इन कानूनों की वापसी को लेकर दबाव बनाए है, लेकिन सरकार ने कानून खत्म करने से साफ इनकार कर दिया है। जिसके चलते सरकार और किसानों के बीच गतिरोध बढ़ता जा रहा है। इस क्रम में कृषि कानूनों के विरोध में भाकियू के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत के आह्वान पर शनिवार को दिल्ली देहरादून हाईवे स्थित सिवाया टोल पर किसानों ने कब्जा जमा लिया।

मेरठ: पुलिस से नाराज ग्रामीणाों ने दौराला हाईवे पर शव रखकर लगाया जाम

सिवाया टोल को फ्री कर दिया गया है और किसान वहां धरने पर बैठ गए हैं। किसानों का कहना है कि जब तक सरकार उनकी मांगों पर कारज़्वाई नहीं करती,वह आंदोलन खत्म नहीं करेंगे। भाकियू के आह्वान पर सुबह 10 बजे से ही सिवाया टोल प्लाजा पर विभिन्न संगठनों के किसान पहुंचने लगे। ठीक 11 बजते ही भाकियू के प्रतिनिधियों के नेतृत्व में किसान धरने पर बैठ गए और टोल को फ्री कर दिया। किसानों को समझाने के लिए पुलिस ,प्रशासन अधिकारी पर पहुंचे।

Meerut Nagar Nigam में धांधली का आरोप, मुख्यमंत्री योगी से शिकायत

नए कृषि बिलों को लेकर केंद्र सरकार और किसानों के बीच की रार खत्म होती नजर नहीं आ रही है। केंद्र सरकार ने जहां किसी भी सूरत में कानूनों को वापस लेने से इनकार कर दिया है, वहीं किसानों ने भी आरपार की लड़ाई का ऐलान कर दिया है।

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here