मेरठ। इसा साल कोरोना (Corona) संक्रमण के कारण एक तो पहले से ही शादियां (Marriage) कम हुईं, अब इस साल जितने दिन बचे हैं, उसमें भी कम ही दिन शादी के शुभ मुहूर्त (Shubh Muhurat) हैं। इससे शादी के घरों में बेचैनी बढ़ गई है। जिन घरों में कोरोना संक्रमण से पहले रिश्ते पक्के हो गए थे, उन्हें कोरोना काल में बेटा या बेटी की शादी ​पीछे खिसकानी पड़ी थी, अब अनलॉक (Corona Unlock) होने के बावजूद शादी के लिए कम शुभ मुहूर्त हैं। ​इस साल अक्टूबर से लेकर दिसंबर तक सिर्फ पांच दिन ही शुभ मुहूर्त हैं, जब शादियां हो सकेंगी। शादियां ज्यादा हैं और शुभ मुहूर्त कम, इसलिए शादी के लिए बुकिंग (Booking) में दिक्कतें हैं। इस साल नवंबर में ​25 व 30 और ​दिसंबर में सात, नौ व ग्यारह दिसंबर को शादी के शुभ मुहूर्त हैं। फिर 2021 में 18 अप्रैल के बाद शादी के मुहूर्त हैं, क्योंकि इस तारीख तक शुक्र अस्त रहेगा।

यह भी पढ़ें: Baghpat में सीमेंट व्यापारी को मारी गोली, ​हालत गंभीर, बदमाश पुलिस की पकड़ से बाहर

पंडित महेंद्र कुमर शर्मा के अनुसार पुरुषोत्तम मास और उसके बाद मलमास के कारण शादी के कार्यक्रम बंद हैं। 11 दिसंबर के बाद अप्रैल 2021 में विवाह मुहूर्त हैं। देवउठानी एकादशी 25 नवंबर से 11 दिसंबर तक विवाह मुहूर्त हैं। 15 दिसंबर से 14 जनवरी तक मलमास है। 17 जनवरी से 15 फरवरी के बीच देव गुरु अस्त रहेंगे जिस कारण कोई शादी मुहूर्त नहीं होगा और 13 फरवरी से 18 अप्रैल 2021 के बीच शुक्र अस्त है। अगले साल जनवरी, फरवरी और मार्च में कोई भी शादी मुहूर्त नहीं होना बड़ी घटना है। इसकी वजह गुरु और शुक्र का अस्त होना है क्योंकि गुरु और शुक्र ही विवाह कार्य को नियंत्रित करते हैं इसलिए गुरु और शुक्र के अस्त होने से कोई शादी मुहूर्त नहीं निकालते। यह अशुभ माना जाता है।

यह भी पढ़ें: Weather Update: West UP के मौसम में ठंडक से कोहरा और प्रदूषण का बढ़ा खतरा, रखें अपना ख्याल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here