Nagar Nigam: डंपिग ग्राउंड बना मेरठ का वार्ड-81, नहीं आता कोई सफाई कर्मचारी!

0
179

नई दिल्ली। देश को नीट एंड क्लीन बनाने का जो सपना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देखा तो उसको खुद सरकारी विभागों के कर्मचारी ही ठेंगा दिखाने में लगे हैं। इसका जीता जागता उदाहरण है मेरठ नगर निगम। सफाई कर्मचारियों की लंबी-चौड़ी फौज रखने वाला मेरठ नगर निगम शहर की व्यवस्था के सामने बोना साबित हो रहा है।

Utrakhand: जोशीमठ में ग्लेशियर गिरने से टूटा डैम भारी तबाही, पावर प्रोजेक्ट ढहा, यूपी में भी हाइअलर्ट

दरअसल, नगर आयुक्त मनीष बंसल के अथक प्रयासों के बाद भी नगर निगम के सफाई कर्मचारी सुधरने का नाम नहीं ले रहे हैं। खासकर सफाई कर्मचारियों की देखरेख के लिए रखे गए सफाई नायक बजाए अपने मूल काम के नगर निगम की राजनीति में मशगूल रहते हैं। यही वजह है कि मेरठ महानगर डंपिंग ग्राउंड बनता नजर आ रहा है।

PM मोदी को जान से मारने की धमकी देने वाला गिरफ्तार, 5 करोड़ लेकर मारने की दी थी धमकी

इस क्रम में @uplivenews.com की टीम ने सोमवार को नगर निगम के वार्ड संख्या 81 का मुआयना किया। यूपी लाइव की टीम जब वार्ड में पहुंची तो मारे बदबू के वहां टिकना भारी होगा। सबसे बुरा हाल तो यहां के खुशहाल नगर का है। यहां ट्रांसफॉर्मर वाली गली की बात करें तो नगर निगम के कर्मचारियों को लेकर लोगों में गुस्सा साफ दिखाई देता है।

लोगों का साफ कहना है कि यहां कोई सफाई कर्मचारी संफाई करने नहीं पहुंचता। स्थानीय लोगों का कहना है कि उन्होंने एक नहीं बल्कि पचासों बार नगर निगम में इसकी शिकायत की, लेकिन कोई सुधार नहीं आया। वार्ड-81 के स्थानीय लोगों ने बताया कि नगर निगम से कोई कर्मचारी सफाई के लिए नहीं आता, इसलिए उनको खुद को ही सफाई में जुटना पड़ता है।

सावधान! ट्रैफिक नियम तोड़ने वालों की अब खैर नहीं, लाइसेंस किया जाएगा जब्त, जाने किन नियमों को तोड़ना है खतरनाक

यहीं के रहने वाले मोहम्मद असलम ने बताया कि यहां कोई कर्मचारी कूड़ा उठाने नहीं आता। असलम ने कहा कि उन्होंने स्थानीय पार्षद से भी इसकी शिकायत की लेकिन कोई सुधार नहीं हुआ। यहीं के अब्बासी ने बताया कि यहां परमानेंट रूप से कूड़ा पड़ा रहता है। निगम का कोई कर्मचारी कूड़ा उठाने नहीं आता।

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here