मेरठ। वेस्ट यूपी (West UP) के सभी जनपदों में सुबह के समय ठंड (Cold) बढ़ती जा रही है। कुछ इलाकों में कोहरा (Fog) भी दिखाई देने लगा है। इसके साथ-साथ वायु प्रदूषण (Air Pollution) का स्तर भी लगातार खराब होता जा रहा है। कोरोना काल (Corona Time) में वायु प्रदूषण की कोई समस्या नहीं थी, लेकिन प्रदूषण अभी से खतरनाक स्तर पर पहुंच रहा है। अभी तो सर्दी (Sardi) भी पूरी तरह से शुरू नहीं हुई है। वेस्ट यूपी में वायु प्रदूषण की ​स्थिति ने सभी को परेशानी में ला दिया है। मौसम वैज्ञानिकों (Weather Scientists) का कहना है कि हवा का रुख बदलने से सर्दी बढ़ेगी। प्रदूषण का स्तर भी लगातार बढ़ता जा रहा है, यह आगे अभी और बढ़ेगा।

वेस्ट यूपी में वायु की गुणवत्ता लगातार खराब हो रही है। पिछले 15 दिनों में मेरठ में एक्यूआई 150 से बढ़कर 300 तक पहुंच गया है। यही स्थिति बागपत की भी ​है यहां का एक्यूआई भी 300 के करीब है। प्रदूषण बढ़ने का कारण पराली और कूड़े को जलाना और प्रतिबंधित वाहनों का संचालन है। कोरोना काल में लॉकडाउन के कारण पूरे देश का एक्यूआई निम्नतम स्तर पर पहुंच गया था और हवा शुद्ध हो गई ​थी, लेकिन लॉकडाउन खत्म होने के बाद वायु प्रदूषण लगातार बढ़ता जा रहा है। मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि आने वाले दिनों में धूप कम होने पर एक्यूआई और बढ़ सकता है। वातावरण में छोटे कण उड़ते रहते हैं, जो एक स्तर पर जाकर एकत्र हो जाते हैं। इससे हवा की गुणवत्ता और खराब हो जाती है। इसके चलते अस्थमा के मरीजों को सांस लेने में दिक्कत बढ़ जाती हैं। आंखों में जलन और एलर्जी की समस्या भी हो सकती है।

इसके अलावा वेस्ट यूपी में मौसम में परिवर्तन देखा जा रहा है। सुबह के समय ठंड बढ़ने लगी है तो कुछ जनपदों में कोहरा भी दिखाई देने लगा है, जबकि दिन में तापमान बढ़ रहा है। मौसम वैज्ञानिक डा. एन सुभाष का कहना है कि दिन में अभी मौसम में गर्मी है। तापमान सामान्य से ऊपर है। हवाओं का रुख बदलने पर मौसम में नमी बढ़ेगी। उसके बाद तापमान में गिरावट दर्ज की जाएगी। कोहरा भी बढ़ेगा और मौसम में ठंडापन बढ़ेगा।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here