Meerut Nagar Nigam में तीन सफाई नायकों पर गिरी गाज, एक को प्रतिकूल प्रविष्टि

नगर निगम के नगर आयुक्त मनीष बंसल ने तत्काल कार्रवाई करते हुए तीन सफाई नायकों को सस्पैंड कर दिया

0
175

मेरठ। देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी ​आदित्यनाथ के स्वच्छ भारत मिशन को कैसे पलीता लगाया जाता है, इसका जीता जागता उदाहरण मेरठ महानगर है। यहां सालों से बिगड़ी सफाई व्यवस्था पटरी पर आने का तैयार नहीं है। गंदगी का कुछ ऐसा ही भद्दा चेहरा उस समय सामने आया, जब दो दिन पूर्व सीएम योगी अपने मेरठ दौरे पर आए। सीएम के आगमन पर भी शहर में कई जगहों पर कूड़े और गंदगी केे ढेर दिखाई दिए। इसका नतीजा यह हुआ है कि शासन ने मेरठ की सफाई व्यवस्था पर असंतोष जताया।

 UP: सरकारी अस्पतालों में डॉक्टरों के सेवा न देने पर 1 करोड़ का जुर्माना

शासन के इस नकारात्मक रुख का संज्ञान लेते हुए नगर निगम के नगर आयुक्त मनीष बंसल ने तत्काल कार्रवाई करते हुए तीन सफाई नायकों को सस्पैंड कर दिया, जबकि एक को प्रतिकूल प्रविष्टि दे​कर छोड़ दिया। नगर आयुक्त ने सोमवार को लोहिया नगर, बिजली बंबा बाइपास, शास्त्रीनगर, तेजगढ़ी चौराहा और जेल चुंगी समेत कई स्थानों का औचक निरीक्षण का सफाई व्यवस्था चेक की। इस दौरान नगर आयुक्त को वार्ड संख्या 16 और 32 में गंदगी के ढेर लगे मिले। नगर आयुक्त ने इस पर सख्त कार्रवाई करते हुए वार्ड 7 के सफाई नायक बिजेंद्र, वार्ड 16 के विजय और वार्ड 32 के सफाई नायक नवीन को सस्पैंड कर दिया। इसके साथ ही नगर आयुक्त ने इन सफाई नायकों के स्थान पर दूसरे सफाई कर्मचारियों को जिम्मेदारी दी।

कृषि कानूनों के खिलाफ आक्रोश: किसानों ने NH-58 पर सिवाया टोल फ्री कराया

इसके साथ ही नगर आयुक्त ने वार्ड 32 के इंस्पेक्टर अजय शील को प्रतिकूल प्रविष्टि दे दी। आपको बता दें कि महानगर की सफाई व्यवस्था नगर आयुक्त मनीष बंसल की प्राथमिकता में है। जिसके चलते वह शहर के सभी वार्डों का औचक निरीक्षण कर रहे हैं। इस दौरान किसी भी स्तर पर खामी मिलने पर सफाई नायकों व कर्मचारियों पर कार्रवाई की जा रही है।

 

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here