meerut: Action मोड़ में नगर निगम, प्रतिबंधित प्लास्टिक के खिलाफ कार्रवाई

अधिकारियों का निर्देश प्रतिबंधित प्लास्टिक के खिलाफ पूरे शहर में चलेगा अभियान, आरोपियों के खिलाफ होगी सख्त कार्रवाई

0
49

meerut: शहर में प्लास्टिक बेचने वालों के खिलाफ नगर निगर एक्शन मोड़ में आ गया है। शुक्रवार को नगर निगम प्रवर्तन दल की टीम ने प्लास्टिक के थोक विक्रेताओं के खिलाफ अभियान चलाकर कार्रवाई की। कार्रवाई से व्यापारियों में खलबली मच गई। निगम अधिकारियों का कहना है पूरे शहर में प्लास्टिक के खिलाफ अभियान चलाया जाएगा।

जुर्माना वसूला

दरअसल, निगम प्रवर्तन दल की टीम ने सेवानिवृत्त लेफ्टिनेंट शक्ति सिंह मलिक के नेतृत्व में राजस्व निरीक्षक राजीव चौधरी के साथ मिलकर कोटला बाजार तथा बागपत रोड आदि जगहों पर प्रतिबंधित प्लास्टिक के खिलाफ अभियान चलाया । छापामारी के दौरान कोटला बाजार स्थित एक थोक व्यापारी के यहां भारी मात्रा में प्रतिबंधित प्लास्टिक मिली । टीम ने थोक व्यापारी को प्रतिबंधित प्लास्टिक का क्रय- विक्रय तथा भंडारण न करने की सख्त चेतावनी दी । टीम ने पॉलिथीन जप्त कर व्यापारी से ₹17000 जुर्माना भी वसूला ।

इसके बाद टीम ने बागपत रोड स्थित एक थोक व्यापारी को प्रतिबंधित प्लास्टिक बेचते हुए पकड़ लिया । टीम ने प्रतिबंधित प्लास्टिक जप्त कर संबंधित थोक व्यापारी से ₹10000 जुर्माना भी वसूला । इस प्रकार अभियान के दौरान आज कुल मिलाकर 57 किलो प्रतिबंधित पॉलिथीन जप्त की गई वही ₹27000 जुर्माना भी वसूला गया । इससे पहले आज सुबह पीयूष कौशिक नाम के व्यक्ति की शिकायत पर नगर निगम प्रवर्तन दल की टीम पल्लवपुरम फेज वन स्थित कोठी नंबर E-4 पर पहुंची । शिकायत मिली थी कि नीरू नाम की महिला अपनी कोठी के अंदर प्रतिबंधित पॉलीथिन का प्रयोग करके मशरूम की खेती करती है तथा खेती में प्रयोग हेतु भारी मात्रा में प्रतिबंधित पॉलिथीन का भंडारण भी करती है ।

टीम ने राजस्व निरीक्षक राजीव चौधरी के साथ मिलकर घर की व्यापक तलाशी ली । लेकिन शिकायत के अनुरूप प्रतिबंधित पॉलीथिन का कोई भंडार नहीं मिला । हालांकि आधा किलो प्रतिबंधित पॉलीथिन के कैरी बैग मिलने पर टीम ने महिला को प्रतिबंधित पॉलीथिन का प्रयोग न करने की चेतावनी दी । नगर निगम प्रवर्तन दल की दूसरी टीम ने सेवानिवृत्त लेफ्टिनेंट जसवंत तोमर के नेतृत्व में वार्ड सुपरवाइजर सनी के साथ मिलकर आज वार्ड 50 स्थित मंगल पांडे नगर में अवैध डेयरी संचालकों के खिलाफ अभियान चलाया । अभियान के दौरान 11 अवैध डेरिया चिन्हित की गई । जहां 10 दिन के भीतर सभी डेयरी संचालकों को डेयरी खाली करने का अल्टीमेटम दिया गया वहीं नाली में गोबर बहाने पर 7 डेयरी संचालकों से ₹7000 जुर्माना भी वसूला गया ।

 

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here