Meerut: BKU पदाधिकारियों ने MDA को घेरा, किसानों का गुस्सा देख घबराए अफसर

भारतीय किसान यूनियन के बैनर तले किसानों ने मेरठ विकास ​प्राधिकरण के द्वार पर धरना-प्रदर्शन किया

0
208

मेरठ। भारतीय किसान यूनियन के बैनर तले किसानों ने सोमवार को मेरठ विकास ​प्राधिकरण के मुख्य द्वार पर धरना-प्रदर्शन किया। भाकियू पदाधिकारियों ने एमडीए की नीतियों का विरोध करते हुए किसानों के शोषण का आरोप लगाया। आक्रोशित किसानों एमडीए के छोटे द्वार को भी बंद कर दिया। स्थिति बेकाबू देख एमडीए अफसरों के हाथ—पांव फूल गए और बातचीत के लिए किसानों के बीच पहुंचे।

परीक्षा को लेकर university में तैयारी पूरी, नहीं तय हो पाए परीक्षा केन्द्र

जानकारी के अनुसार भारतीय किसान यूनियन के बाबा ईलम सिंह और संजय दौरालिया के नेतृत्व में पल्लवपुरम व शताब्दीनगर योजना के किसान एमडीए कार्यालय पहुंचे। इस बीच किसान अपना वाहन एमडीए के मेन गेट तक ले जाने लगे तो गार्ड ने उनको वहीं पर रोक दिया। इससे नाराज किसान एमडीए के दरवाजे पर बैठ गए और नारेबाजी करने लगे। किसानों ने द्वारा मेन गेट पर लोगों और वाहनों का आवागमन बंद करने से बाहर सड़क पर जाम लग गया, जिसको देख एमडीए अधिकारियों के हांथ पांव फूल गए। तभी अर्जन अनुभाग प्रभारी व तहसीलदार मनोज सिंह किसानों के बीच पहुंचे और उनको अपनी साथ एमडीए कार्यालय के अंदर लाए। इस बीच किसानों ने एमडीए उपाध्यक्ष के साथ वार्ता की मांग रखी, लेकिन वीसी के कार्यालय में न मौजूद होने के कारण उनकी वार्ता सचिव से कराई गई।

गहराने लगा सुशांत की मौत का राज, पड़ोसी महिला का खुलासा 13 जून को नहीं हुई थी कोई पार्टी

भाकियू मंडल महामंत्री नरेश चौधरी ने जानकारी देते हुए बताया कि पल्लवपुरम योजना के पॉकेट-जे के खाता संख्या 328 की एमडीए द्वारा ई-नीलामी की जा रही है, इसको तुरंत रोका जाना चाहिए। भाकियू पदाधिकारी ने कहा कि जिस जमीन को ​नीलाम किया जा रहा है, उसका संबंधित किसान के साथ मुआवजा प्रकरण लंबित है। इसके साथ ही जमीन अभी तक राज्य सरकार की निहित भूमि में दर्ज भी नहीं हुई है। ऐसे में जब तक मुआवजे का समाधान न हो जाए, तब तक प्लॉट की नीलामी न की जाए। इस मौके पर महकार सिंह, डॉ. विकास, सोराज मलिक व महेंद्र चहल आदि लोग मौजूद रहे।

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here