मेडिकल कालेज में कोरोना संक्रमित का शव बदलने के मामले में हुई ये बड़ी कार्रवाई

कोरोना संक्रमित मरीज का शव बदलने के मामले में डीएम अनिल ढींगरा ने जांच समिति गठित की थी। उसकी रिपोर्ट के आधार पर मेडिकल कालेज के प्राचार्य ​डा. ज्ञानेंद्र कुमार ने कार्रवाई की।

0
172

मेरठ। एलएलआरएम मेडिकल कॉलेज में कोरोना संक्रमित मरीज का शव बदलने के मामले में प्राचार्य प्राचार्य डॉ. ज्ञानेंद्र कुमार ने सोमवार को बड़ी कार्रवाई की है। डीएम ​अनिल ढींगरा ने इस मामले में तीन सदस्यीय जांच ​समिति गठित की थी। समिति की रिपोर्ट के आधार पर प्राचार्य ने छह स्टाफ नर्स और चार वार्ड ब्वॉय को हटा दिया है, जबकि सिस्टर इंचार्ज को ​रात में ही हटा दिया गया था।

यह भी पढ़ें: होमगार्ड की बेटी के साथ ​छेड़छाड़, घर में की खींचने की कोशिश, विरोध ​करने पर पिटाई

प्राचार्य ने सिस्टर इंचार्ज के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की संस्तुति कर चिकित्सा शिक्षा महानिदेशक को लिखा गया है। ड्यूटी पर रही छह स्टाफ नर्स को हटाकर दूसरी स्टाफ नर्स तैनात करने के लिए अवनी परिधि सेवा प्रदाता कंपनी को लिखा गया है। विश्वा कंपनी के चार वार्ड ब्वाय को हटाकर दूसरे वार्ड बॉय तैनात करने को भी कहा गया ​है। साथ ही प्राचार्य ​ने ड्यूटी पर रहे सात जूनियर और सीनियर रेजिडेंट डॉक्टरों को चेतावनी दी है कि वे सजगता और निष्ठा से कार्य करें। ऐसी घटना दोबारा होने पर उनके खिलाफ भी अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी।

यह भी पढ़ें: युवक ने सुसाइड करने से पहले बनाया वीडियो, लव मैरिज को हुए थे सिर्फ पांच महीने

रविवार को मेरठ मेडिकल में बड़ी लापरवाही सामने आयी थी, जब एक परिवार ने कोरोना वार्ड में संक्रमित मृतक का शव बदलने की शिकायत की थी। मृतक के अंतिम संस्कार के दौरान परिजनों ने शव का जब चेहरा देखा तो हड़कंप मच गया था, क्योंकि वह ​शव किसी ​अन्य मरीज का था। इसकी शिकायत परिजनों ने मेडिकल कालेज में की थी। मोदीनगर निवासी मरीज को बीते दिनों पैरालिसिस के चलते उन्होंने मेरठ मेडिकल में भर्ती कराया था। जहां बाद में वह कोरोना पाॅजिटिव हो गए थे।

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here