Weather Alert: West UP में सुबह की ठंड के साथ बदला मौसम, इस बार पड़ेगी कड़ाके की सर्दी

मेरठ समेत वेस्ट यूपी के जनपदों में मौसम में बदलाव शुरू हो गया है। सुबह के समय ठंड और दिन में उमस और गर्मी से लोग परेशान हैं। ऐसे में बीमारियों के बढ़ने का खतरा भी मंडरा रहा है।

0
220

मेरठ। सितंबर महीना बारिश की इंतजार में बीत गया, लेकिन ​वेस्ट यूपी में लोग बारिश के लिए तरसते ही रहे। अक्टूबर की शुरुआत सुबह की ठंड के साथ हुई है। दिन में हालांकि गर्मी और उमस बनी हुई है, लेकिन सुबह की ठंड में पंखे, कूलर व एसी बंद होने लगे हैं। मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि ​बारिश की संभावना अब खत्म हो गई है। अक्टूबर में सुबह-शाम की ठंड बढ़ेगी। साथ ही कोहरा और प्रदूषण बढ़ेगा। ​बदलते मौसम में लोग ​अपने स्वास्थ्य का विशेष ख्याल रखें।

यह भी पढ़ें: Bike Boat Scam में कंपनी के 50 हजार के इनामी डायरेक्टर समेत तीन गिरफ्तार, STF और EOW का एक्शन

वेस्‍ट यूपी में इस बार मानसून में 26 प्रतिशत कम बारिश हुई है। वहीं पुराने मानकों के आधार यह प्रतिशत 35 प्रतिशत से कम है। जून, जुलाई अगस्त और सितंबर में मानसूनी बारिश होती है। 2014 के बाद इस बार सीजन में सबसे कम बारिश 451 मिलीमीटर बारिश हुई है। इस बार मानसून सीजन का अंतिम माह सितंबर ने लगभग एक दशक से चले आ रहे ट्रेंड को तोड़ा है। विगत कई दशकों से सितंबर माह में अच्छी बारिश हो रही है। वर्ष 2019 में ही 136 मिलीमीटर बारिश हुई थी। लेकिन इस बार सितंबर पूरी तरह सूखा रहा। बारिश न होने से सितंबर में गर्मी ने भी कई सालों के रिकार्ड तोड़ दिया। अधिकतम तापमान 37 डिग्री पहुंच गया। पूरे माह में दो तीन दिन छोड़ दें तो अधिकतम तापमान 35 डिग्री से अधिक रहा है।

यह भी पढ़ें: Meerut में BJP का पूर्व मंडल मंत्री 150 व्यापारियों की कमेटी के चार करोड़ रुपये लेकर फरार, जमकर हंगामा

मौसम विभाग के 11 साल के उपलब्ध आंकड़ों में इतना अधिक तापमान नहीं देखा गया है। न्यूनतम तापमान का औसत भी 25.2 रहा है। सरदार वल्लभ भाई पटेल कृषि विश्वविद्यालय के मौसम केंद्र के प्रभारी डा. यूपी शाही ने बताया कि मानसून विदा होने से आदृता का प्रतिशत कम हो गया है। तेज हवाएं चल रही हैं। मौसम वैज्ञानिक डा. एन सुभाष ने बताया कि इस बार ज्यादा ठंड की संभावना है।

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here