संस्कृत के बिना भारत की कल्पना ही सम्भव नहीं: गौरव

0
223

मेरठ। शनिवार को डीएवी डिग्री महाविद्यालय बुढाना में संस्कृत भारती द्वारा चल रहें सरल संस्कृत संभाषण शिविर का समापन किया गया। कार्यक्रम में डॉ. राजीव कुमार बतौर मुख्य अतिथि पधारे, जबकि विशिष्ट अतिथि बनने का अवसर खण्ड विस्तारक रविन कुमार को मिला। कार्यक्रम अध्यक्षता कर रहे विद्यालय के प्रधानाचार्य डॉ. प्रदीप कुमार ने सभी अतिथियों का स्वागत किया।

Meerut: ज्वैलर के परिवार को बंधक बनाकर करोड़ों का डाका, बदमाशों ने नकली पुलिस बनकर दिया वारदात को अंजाम

संस्कृतं भारतस्य आत्मा

कार्यक्रम में उपस्थित मुख्य वक्ता संस्कृत भारती के संघटन मन्त्री गौरव शास्त्री समेत सभी अतिथियों ने मां भारती व मां शारदे के चित्र के सम्मुख दीप प्रज्वलित कर पुष्प अर्पित किए। कार्यक्रम की शुरुआतं छात्र छात्राओं की ओर से प्रस्तुत किए गए सांस्कृतिक और मनमोहक गीत व नाटकों के साथ हुई। इस दौरान मुख्य तिथि डॉ. राजीव ने संस्कृत को देववाणी बताते हुए अपने विचार प्रकट किए । मुख्य गौरव शास्त्री ने कहा कि *संस्कृतं भारतस्य आत्मा* संस्कृत के बिना भारत की कल्पना ही सम्भव नहीं है संस्कृत भारत आत्मा हैं संस्कृत प्राचीन एवं वैज्ञानिक भाषा है संस्कृत वाङ्गमय में ज्ञानविज्ञान का भंडार निहित हैं तथा योग-आयुर्वेद-वास्तु-षोडससंस्कार आदि का विस्तृत वर्णन उपलब्ध है।

sharanpur: पिता ने ही एक साल की बेटी को गला दबाकर उतारा मौत के घाट, बेटा न होने की खुन्नस की वजह आई सामने

प्राचीन काल मे संस्कृत भाषा ही भारत की व्यवहार भाषा थी

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि प्राचीन काल मे संस्कृत भाषा ही भारत की व्यवहार भाषा थी संस्कृत पुन: जनभाषा हो और इस भाषा में जो ज्ञानविज्ञान निहित है उसे हम प्राप्त कर पाएं इसी लिए संस्कृत भारती संस्था 1981 से कार्यरत हैं संस्कृत भारती एक सामाजिक संघठन है जो बिना किसी सरकारी सहयोग के समाज मे समाज के सहयोग से संस्कृत कार्य कर रहा हैं । संस्कृत विभागाध्यक्षा डॉ. संगीता ने भी इस मौके पर अपने विचार प्रकट किए ।

Meerut: आकांक्षा बनीं शूटिंग संस्थान की कैप्टन, देश का नाम रोशन करने का किया वादा

संस्कृत को व्यवहार में लाने का निवेदन

साथ ही कार्यक्रम अध्यक्ष ने सभी का आभार व्यक्त किया तथा सभी से संस्कृत को व्यवहार में लाने का निवेदन किया। इस मौके पर संस्कृत विभाग से डॉ अनिता शर्मा , डॉ रश्मि , नगर शारिरिक शिक्षणप्रमुख राजीव कुमार, मनीष बौठियाल, दीपक कुमार एवं विद्यालय के छात्र छात्राएं उपस्थित रहें ।

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here