Weather Update: पांच ​साल का टूट गया गर्मी का रिकार्ड, 15 दिन बाद West UP में बारिश की उम्मीद

मेरठ समेत वेस्ट यूपी के तमाम ​जनपद गर्मी और उमस में झुलस रहे हैं। अगस्त के बाद सितंबर में भी बारिश की कमी से अभी तापमान 37 से ​38 डिग्री सेल्सियस तक पहुंचने की उम्मीद है।

0
197

मेरठ। कोरोना संक्रमण के दौरान लॉकडाउन में वेस्ट यूपी की हवा शुद्ध तो हुई, लेकिन लोग बारिश को तरस गए। वह सिलसिला अनलॉक तक चला आ रहा है। सावन के महीने में कम बारिश का असर सितंबर तक दिख रहा है। गर्मी और उमस से लोग बेहाल है और बारिश के लिए आसमान की ओर ताक रहे हैं, लेकिन बारिश नहीं हो रही है। मौसम वैज्ञानिकों ने भी बता दिया है कि अभी बारिश के आसार भी नहीं है। इसलिए गर्मी लोगों को झेलनी पड़ेगी। वैसे भी इस सितंबर में पिछले पांच साल में गर्मी का रिकार्ड टूटा है। मौसम ​वैज्ञानिकों का कहना है कि अक्टूबर के पहले सप्ताह में बारिश की संभावनाएं बन रही हैं।

यह भी पढ़ें: Bijnor नगर पालिका के चेयरमैन के यहां गोकशी पर हुई बड़ी कार्रवाई, दो दरोगा समेत आठ पुलिसकर्मी नपे

मौसम वैज्ञानिकों ने पहले सितंबर में बारिश की उम्मीद जताई थी, लेकिन सिस्टम के दक्षिण क्षेत्र में शिफ्ट होने के कारण सितंबर में बारिश की संभावना अब कम ही नजर आ रही है। बारिश का सिस्टम सितंबर के आखिर में सामान्य रूप से शुरू हो जाया करता है, लेकिन इस बार इसकी सभांवना ​अक्टूबर के पहले सप्ताह में होने की है। अभी तक सितंबर में बारिश नहीं हुई है। वैसे सामान्य तौर पर 136 मिमी बारिश होनी जरूरी है। बारिश नहीं होने का असर फसल पर भी पड़ रहा है। सितंबर ​के 20 दिन निकल चुके हैं, लेकिन बारिश बिल्कुल नहीं हुई है। इससे शहरी क्षेत्रों में लोग गर्मी और उमस से परेशान हैं तो ​किसान ​अपनी खेती को बारिश नहीं मिल पाने के कारण।

यह भी पढ़ें: Meerut में 180 नए Corona केस, ICU वार्ड फुल, सं​क्रमितों का आंकड़ा 7000 के पार

वेस्ट यूपी में मेरठ, मुजफ्फरनगर, बागपत, हापुड़, गाजियाबाद, बुलंदशहर, बिजनौर, मुराबादाबाद समेत कई जनपदों में बारिश नहीं होने और गर्मी व उमस होने के कारण सितंबर में लोग बेहाल हैं, जबकि ऐसा ​इस महीने में कम ही देखने को मिला है। ​मेरठ में पिछला शुक्रवार पिछले पांच सालों में सबसे गर्म दिन रहा। यहां ​अधि​कतम तापमान 36.7 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया, जबकि 2015 में 36.5 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया था। इससे अंदाजा लगा सकते हैं कि लोग गर्मी ​और उमस में कितनी मुश्किलें झेल रहे हैं। ऐसे में बिजली कटौती भी जमकर हो रही है। मौसम वैज्ञानिक डा. एन सुभाष का कहना है कि अभी मौसम नहीं बदलने वाला और अधिकतम तापमान भी 37 से ​38 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच सकता है।

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here