मेरठ। हाथरस केस (Hathras Case) के बाद से बहन-बेटियों के खिलाफ आपराधि​क घटनाओं (Crime Against Women) में बढ़ोतरी हुई है। वेस्ट यूपी (West UP) में पुलिस का खौफ खत्म होता दिख रहा है, हालांकि सीएम योगी आदित्यनाथ CM Yogi Adityanath) ने वेस्ट यूपी में महिलाओं की सुरक्षा को लेकर दावा किया था। तब से रोजाना वेस्ट यूपी के किसी न किसी जिले में दुष्कर्म की घटना सामने आ रही है। मेरठ शहर के लिसाड़ी गेट क्षेत्र में महिला के साथ तीन आरोपी युवकों ने गैंगरेप (Gangrape) किया। आरोप है कि पुलिस ने भी मदद नहीं की। समर गार्डन चौकी में तहरीर दी, लेकिन तीन दिन तक मामला लटकाए रखा गया। आखिरकार पीड़िता ने लिसाड़ी गेट थाने में तहरीर देते हुए तीन आरोपियों को नामजद कराया। इसके बाद पुलिस (Meerut Police) टीम घटनास्थल पर जांच करने पहुंची।

पीड़िता का आरोप है कि तीन माह पूर्व उसके भाई का मेहताब से विवाद हो गया था। इससे मेहताब रंजिश रखने लगा था। पीड़िता के मुताबिक, 21 अक्तूबर को वह घर पर अकेली थी। इस दौरान आरोपी मेहताब, सरताज और हकीम घर में घुस आए। बंधक बनाकर तमंचे के बल पर तीनों ने गैंगरेप किया। पीड़िता ने बताया कि समर गार्डन चौकी पुलिस को तहरीर दी गई, लेकिन पुलिस ने मेडिकल तक नहीं कराया।

यह भी पढ़ें: परिवहन मंत्री Ashok Katariya ने गांवों में लगाई Chaupal, कहा- PM Modi-CM Yogi ​के नए भारत पर मुहर लगाने का समय

परेशान होकर रविवार को लिसाड़ी गेट थाने पहुंची और तहरीर दी। तीनों आरोपियों को नामजद कराते हुए शिकायत दी, जिसके बाद जांच शुरू की गई। पीड़िता का मेडिकल कराने का प्रयास किया गया, लेकिन तब तक देर हो चुकी थी। सोमवार को मेडिकल कराया जाएगा। इंस्पेक्टर प्रशांत कपिल ने बताया कि जांच की जा रही है। कार्रवाई कराई जाएगी।

यह भी पढ़ें: BJP MP राजेंद्र अग्रवाल कोरोना संक्रमित, AIIMS में भर्ती, सम्पर्क में आए लोग ​होंगे होम आइसोलेट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here