मेरठ। कोरोना (Corona) संक्रमण ने लोगों को डिजिटल तकनीक (Digital Platform) पर ज्यादा आश्रित रहने को मजबूर किया है तो शिक्षा के क्षेत्र में भी छात्र-छात्राओं (CCSU Students) को इसे लेकर मजबूत किया जा रहा है। सीसीएसयू मेरठ (CCSU Meerut) की ओर से छात्र-छात्राओं को ज्यादा आनलाइन सुविधाएं (Online Facilities) देने के उद्देश्य से राज्यपाल (UP Governor) आनंदीबेन ने लखनऊ (Lucknow) में कुलपतियों (VC) के साथ बैठक की। इसमें इस बात पर जोर दिया गया कि ​छात्र-छात्राओं को ज्यादा से ज्यादा आनलाइन सुविधाएं दी जाए और उन्हें डिजिटल (Digital) स्तर पर पहले से ज्यादा सक्रिय किया जाए।

यह भी पढ़ें: Meerut Division में 10 दिनों में Corona के मिले पांच हजार मरीज, 34 लोगों की मौत, त्योहारों पर खौफनाक स्थिति

चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय मेरठ में आनलाइन प्रवेश की प्रक्रिया चल रही है। कोरोना संक्रमण काल में आनलाइन पढ़ाई और कई विषयों की मौखिक परीक्षाएं भी आनलाइन की गई हैं। पीएचडी में कुछ विषयों में मौखिक परीक्षा भी आनलाइन हुई है। कुलपति प्रो. एनके तनेजा ने बताया कि आनलाइन प्रक्रिया से पारदर्शिता बढ़ती है, साथ ही छात्रों को कई सारी सुविधा मिल जाती है। छात्रों को अपनी डिग्री, मार्कशीट से लेकर अन्य किसी भी समस्या के लिए परिसर में आना न पड़े। इसके लिए जो भी जरूरी है वह कदम उठाया जा रहा है। विवि से जुड़े कालेजों को बीएड अंतिम वर्ष 2019-20 के आंतरिक अंक 17 नवंबर तक पोर्टल पर अपलोड करने के लिए कहा गया है। बीएड की प्रयोगात्मक और मौखिक परीक्षा 20 नवंबर तक पूरी हो जाएगी।

यह भी पढ़ें: West UP में Diwali से पहले बढ़ी ठंड, अब दिन के तापमान में भी आयी गिरावट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here