निजीकरण के विरोध में विद्युतकर्मियों ने किया प्रदर्शन, योगी सरकार को दी ये चेतावनी

0
217

मेरठ। संयुक्त संघर्ष समिति के विधुत कर्मचारियों ने एमडी कार्यालय उर्जा भवन पर धरना प्रदर्शन कर निजीकरण का विरोध किया। समिति के पदाधिकारियेां ने प्रदेश सरकार पर तीखे हमले किये और निजीकरण को वापस न लेने पर मौजूदा सरकार को उखाड़ फेंकने की चेतावनी दी।
उर्जा भवन एमडी कार्यालय पर विधुत कर्मचारी संयुक्त संघर्ष समिति ने चार तारीख को हुई प्रबंधन से वार्ता विफल होने के बाद सोमवार को जोरदार अनिश्चति कालीन धरना प्रदर्शन किया। समिति के संयोजक ईजीनियर रोहित कुमार ने कहा कि सोमवार से आज से हम कार्यबहिष्कार करते है। लेकिन अस्पताल पेयजल एवं अन्य आवश्यक सेवाओं की विधुत आपूर्ति बनायी रखी जायेगी। जिससे की आम जनता को असुविधा का सामना न करना पड़े। अगर किसी कर्मचारी की गिरफ्तारी या उत्पीड़न किया गया तो सभी जेल भरो आन्दोलन करेंगें। धरना प्रदर्शन करने के दौरान कई पदाधिकारियेां ने अपने निजीकरण पर विचार रखे। उन्होंने कहा कि निजीकरण कर सरकार कर्मचारियों का हक छीनने की कौशिश कर रही है। सरकार को घेरते हुए कहा कि अगर निजीकरण वापस नहीं लिया गया तो प्रदेश सरकार को उख़ाड़ फेंकने का काम हम करेंगे। वैसे भी सरकार की उल्टी गिनती शुरु हो गई है। अगर निजीकरण वापस नहीं लिया गया तो आंदोलन किया जायेगा।

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here