Meerut में कचरे से बिजली बनाने का रास्ता साफ, ग्रिड से जुड़ा प्लांट

0
136

मेरठ। मेरठ महानगर में कूड़े से ​गैस व बिजली बनाने का रास्ता साफ हो गया है। गुरुवार को मेरठ भूडबराल में कूड़े से बिजली बनाने का सफल परीक्षण किया गया। विजेंद्र एनर्जी एंड रिसर्च कंपनी की ओर से किए गए इस सफल परीक्षण के बाद अब मेरठ में कूड़े से बिजली और गैस का उत्पादन किया जा सकेगा।

Anti Corruption Movement की युवाओं से अपील, देश से उखाड़ फेंके भ्रष्टाचार की जड़

Meerut Nagar Nigam में तीन सफाई नायकों पर गिरी गाज, एक को प्रतिकूल प्रविष्टि

गुरुवार का भारतीय जनता पार्टी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मीकांत वाजपेयी ने बटन दबाकर कूड़े से बिजली बनाने के प्लांट को स्टार्ट किया। जानकारी के बाद एक सप्ताह के परीक्षण के बाद इस प्लांट को सुचारू रूप से चलाया जा सकेगा। कूड़े से बनने वाली इस बिजली का मेरठ महानगर को सीधा फायदा पहुंचेगा। डॉ0 वाजपेयी ने दावा किया है कि शहर को जल्द ही कूड़े की समस्या से छुटकारा मिलेगा, बल्कि इसके बदले बिजली भी मिल सकेगी। इससे नगर निगम के लिए आय के नए श्रोत भी खुलेंगे।

Amroha: FIR के बाद, गैंगरेप पीड़िता ने आरोपी से शादी की

इस मौके पर भाजपा के पूर्व प्रदेश डॉ. लक्ष्मीकांत वाजपेयी के अलावा विजेंद्र एनर्जी एंड रिसर्च कंपनी के प्रोपराइटर विजेंद्र सिंह, सहायक नगर आयुक्त बृजपाल सिंह, इंद्र विजय कुमार और बिजली विभाग के एक्सईएन रामबाबू, प्रिंस कुमार गौतम पार्षद संदीप रेवड़ी नरेंद्र उपाध्याय वह विवेक वाजपेयी मौजूद रहे।

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here