ccs univercity की कार्य परिषद बैठक में हुए अहम फैसले, lockdown से पहले के पास छात्रों होंगे प्रोन्नत, अन्य की परीक्षा सितंबर में…

0
268

मेरठः अगर आप छात्र हैं और ccs univercity से जुड़ें हैं, तो यह खबर आपके लिए अहम है। univercity ने lockdown के पहले पास हुए छात्रों को अगली class में प्रमोट करने का फैसला लिया है। साथ ही अंतिम सेमेस्टर और अंतिम वर्ष की परीक्षा सितंबर में कराने का फैसला भी लिया गया है। इसके अलावा कई अन्य परीक्षाओं पर भी कार्यपरिषद की बैठक में चर्चा के बाद फैसले लिए गए।

COVID-19 के चलते गुरुवार को online कार्यपरिषद की बैठक कुलपति की अध्यक्षता में संपन्न कराई गई। जिसमें सभी संकाय के विभिन्न कक्षाओं के ऐसे छात्र जो लाॅकडाउन/18 मार्च 2020 के पूर्व विश्वविद्यालय द्वारा संपन्न कराई गई परीक्षा के प्रश्नपत्रों मूल्यांकन के आधार पर अपने कक्षा के प्रत्येक विषय में पृथक-पृथक उर्तीण है अथवा बैक पेपर के लिए अर्ह है उनको अगले वर्ष/अगले सेमेस्टर में प्रोन्नत कर दिया जाएगा। साथ ही उनकी अवशेष परीक्षाएं स्थगित रहेंगी।

COVID-19 महामारी से बचाव के लिए निर्धारित प्रोटोकोल और दिशा निर्देश अनुपालन करते हुए सितंबर 2020 आफलाइन और आनलाइन से अवशेष परीक्षाएं संपन्न कराईै जाएंगी। स्नातक अंतिम वर्ष की परीक्षाएं 30 सितंबर तक संपन्न कराकर स्नातक अंतिम वर्ष का परीक्षा परिणाम 15 अक्टूबर तक तथा स्नातकोत्तर अंतिम वर्ष का परीक्षा परिणाम घोषित किया जाएगा। किन्हीं कारणोवश यदि कोई छात्र अंतिम सेमेस्टर या अंतिम वर्ष की विश्वविद्यालय की परीक्षाओं में सम्मलित नहीं हो पाता है। तो इस दशा छात्र-छात्रा को उस कोर्स के प्रश्नपत्र की विशेष परीक्षा में सम्मिलित होने के लिए अवसर दिया जाएगा। जो विश्वविद्यालय की सुविधा के अनुसार आयोजित की जाएगी। जिससे छात्रों की किसी प्रकार की असुविधा या क्षति न हो। उपर्युक्त प्रावधान चालू शैक्षणिक सत्र 2019-20 के लिए केवल एक बार लागू होगा।

समस्त संकायों के ऐसे छात्र जो उपरोक्त प्रस्तर 4 की व्यवस्था के अनुसार प्रोन्नत किए जाते हैं। वे छात्र 2020-21 की द्वितीय वर्ष की परीक्षा में सम्मिलित होंगे तथा विश्वविद्यालय के नियमों के अंतर्गत यदि ये सभी विषयों में पृथक-पृथक उर्तीण पाए जाते हैं तो उनके द्वितीय वर्ष के समस्त विषयों/प्रश्नपत्रों के प्राप्तांकों का औसत अंक ही उनके प्रथम वर्ष के उन अवशेष विषय/विषयों/प्रश्नपत्र/ प्रश्नपत्रों का प्राप्तांक माना जाएगा। जिनमें 2019-20 में परीक्षाएं संपादित नहीं हो सकी थी।

——————–

 

 

 

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here