दीपावली से पहले पटाखों का जखीरा पकड़ा, पुलिस ने अभियान में इतने लाख का माल बरामद

दीपावली से पहले मेरठ पुलिस ने गोदाम से दस लाख रुपये के पटाखे बरामद किए हैं। इन्हें बेचने के लिए एक घनी आबादी की तंग गली में गोदाम में रखा गया था। एनजीटी के आर्डर के बाद पुलिस ने पटाखों के खिलाफ अभियान चला रखा है। इस बार दीपावली पर पटाखे चलाने पर रोक लगी हुई है।

0
98

मेरठ। Meerut News, दिल्ली-एनसीआर (Delhi-NCR) और वेस्ट यूपी (West UP) के कई जनपदों में वायु प्रदूषण (Air Pollution) ​की खराब स्थिति के कारण एनजीटी (NGT) ने दीपावली (Diwali) पर पटाखों बेचने और खरीदने पर रोक लगा दी है। इसके बावजूद लोग पटाखों (Firecracker) का गुपचुप तरीके से धंधा कर रहे हैं। मेरठ (Meerut) और आसपास के जिलों में दीपावली पर पटाखों को लेकर प्रशासन (District Administration) ने बड़ा अभियान चलाया जा रहा है। पटाखों के खिलाफ पुलिस (Meerut Police) की कार्रवाई जारी है। गुरुवार सुबह लिसाड़ी गेट पुलिस ने तारापुरी में स्थित एक गोदाम पर छापा मारकर करीब 10 लाख रुपए के पटाखे बरामद किए।

यह भी पढ़ें: Big Breaking: Dhanteras पर सोना-चांदी के भाव में भारी गिरावट, सराफा बाजारों में उमड़ी भीड़

सीओ कोतवाली अरविंद चौरसिया ने बताया कि कोतवाली क्षेत्र के गुदड़ी बाजार निवासी हाजी अयूब का एक मकान तारापुरी में भी है, जिसमें उन्होंने करीब 10 लाख रुपए के पटाखे रखे हुए थे। सूचना पर पुलिस ने कार्रवाई करते हुए उसे पकड़ लिया। पटाखों की सप्लाई शहर से लेकर देहात तक जारी थी। आसपास के लोगों का कहना है कि गोदाम घनी आबादी के बीच था। ऐसे में यदि कुछ हादसा होता तो तंग गलियों के चलते दमकल की गाड़ियां भी नहीं पहुंच पाती और काफी बड़ा नुकसान हो सकता था।

यह भी पढ़ें: त्योहारों पर बाजारों में भीड़ बढ़ने से Corona के नए केस मिले 168, Meerut में आंकड़ा 14 हजार के पार

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here