भारतीय किसान यूनियन को मिला परशुराम सेना का समर्थन, मिलकर लड़ेंगे किसानों की लड़ाई

0
203

मवाना। लंबे समय से किसानों के हित की लड़ाई लड़ रही भारतीय किसान यूनियन को अब सामाजिक संगठनों का भी साथ मिलने लगा है। इस क्रम में ब्राहमण संगठन राष्ट्रीय परशुराम सेना ने भकियू को अपना समर्थन देते हुए किसान हित की लड़ाई में कंधे से कंधा मिलाकर चलने का आश्ववन दिया है। 6 नवंबर को होने वाली किसान पंचायत की तैयारी को लेकर किसान यूनियन के पदाधिकारियों ने क्षेत्र में जन संपर्क अभियान चलाया। शुक्रवार को नवनियुक्त तहसील अध्यक्ष रामवीर गूर्जर की अध्यक्षता में परशुराम सेना के अध्यक्ष उमेश पंडित के भैंसा स्थित आवास पर एक बैठक का आयोजन किया गया।

भारतीय किसान यूनियन को परशुराम सेना का समर्थन, मिलकर लड़ेंगे किसानों की लड़ाई

तहसील अध्यक्ष रामवीर गूर्जर का स्वागत

बैठक में आगामी किसान पंचायत की तैयारियों को लेकर रणनीति पर विचार किया गया। इस दौरान भाकियू तहसील अध्यक्ष रामवीर गूर्जर ने कहा कि उत्तर प्रदेश योगी सरकार किसान विरोधी है। सरकार की नई नीतियां भी दमनकारी हैं, जिसका भविष्य में किसानों को खामियाजा उठाना पड़ेगा। ऐसे में सभी किसानों को एकजुट होकर अपनी शक्ति का अहसास कराना होगा। इस मौके पर पशुराम सेना के अध्यक्ष उमेश शर्मा ने कहा कि किसान का कोई जाति धर्म नहीं होता। किसान केवल किसान होता है। इसलिए ​किसानों की इस लड़ाई में सबको एक मंच पर एकजुट हो जाना चाहिए। उमेश पंड़ित ने भाकियू तहसील अध्यक्ष रामवीर गूर्जर का स्वागत करते हुए किसान हित की लड़ाई में अपना समर्थन देने की घोषणा की। उन्होंने कहा ​कि 6 नवंबर को आयाजित होने वाली किसान पंचायत में हमारा पूरा सहयोग रहेगा।

West UP Corona Update: कोरोना का फिर बढ़ने लगा दायरा, 221 नए संक्रमित ​मरीज मिले

ये लोग रहे मौजूद

इस मौके पर अजित भड़ाना, देवेंद्र, कपिल, मंगल सिंह, खलील चौधरी, राजेंद्र चौधरी भैंसा, रोहताश भैंसा, निरंकार शर्मा, अमित शर्मा, मनित शर्मा, आदेश शर्मा व रविभूषण शर्मा आदि मौजूद रहे।

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here