कृषि अध्यादेश पर गुस्से में किसान, कलेक्ट्रेट में किया जोरदार प्रदर्शन

0
207

मेरठ। कृषि बिल पारित होने पर भा​रतीय किसान यूनियन ने कलेक्ट्रेट में धरना प्रदर्शन कर केन्द्र सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। किसानों ने बिल को किसान विरोधी बिल बताया और आंदोलन की चेतावनी दी।
सोमवार सुबह से ही जिले के किसानों ने भाकियू के नेतृत्व में कलेक्ट्रेट पर पहुंचना शुरु कर दिया था। सैंकड़ों की तादाद में किसान 12 बजे तक जिलाधिकारी कार्यालय के बाहर पहुंच गये थे। किसान जिलाधिकारी के कार्यालय के बाहर धरने पर बैठ गये और नारेबाजी करने लगे। किसानों ने कृषि बिल पारित होने पर केन्द्र सरकार पर जमकर निशाना साधा। इसके बाद भारतीय किसान यूनियन ने किसानों के लिए धरना स्थल पर ही हुक्का मंगवा लिया और केन्द्र सरकार पर जमकर प्रहार किये।
किसानों का उत्पीड़न किसी सूरत में बर्दाश्त नहीं: गौरव टिकैत

किसानों ने कहा कि सरकार ने कृषक सशक्तिकरण और संरक्षण, कृषक उपज व्यापार और वाणिज्य, आवश्यक वस्तु अधिनियम अध्यादेश 2020 तीनों अध्यादेश किसान विरोधी है। इन तीनों अध्यादेशों को तुरंत वापस किया जाये। न्यूनतम समर्थन मूल्य के सभी फसलों फल और सब्जी लागू करते हुए कानून बनाया जाये। समर्थन मूल्य से कम पर फसल खरीदी है तो उसे अपराध की श्रेणी में शामिल किया जाये। बिजली की दरों में बेतहाशा बढ़ोतरी को कम किया जाये।

Shameful: पंचायत ने दुष्कर्म पीड़िता की कीमत लगाई 50 हजार, दबाव में आरोपी ने कर लिया निकाह, फिर जो हुआ…
भाकियू के धरना प्रदर्शन से पहले ही सीओ सिविल लाइन और कई थानों की फोर्स लगाते हुए कलेक्र्टेट को छावनी में तब्दील कर दिया गया था। भाकियू नेताओं ने कृषि बिल के विरोध में भाजपा को दोषी ठहराया और इस बिल को वापस लेने की मांग की। भाकियू ने चेतावनी देते कहा कि अगर ये बिल वापस नहीं लिये गये तो देश का किसान केन्द्र सरकार के खिलाफ बड़ा आंदोलन कर छेड़ेगा। सरकार को ये बिल वापस लेने होंगे। धरने में कई भाकियू नेताओं ने बिल के विरोध में अपने ​विचार रखे।
भाकियू एक दिवसीय धरना प्रदर्शन की अध्यक्षता बाबा ईलम सिंह ने की। संचालन गजेन्द्र सिंह ने किया। धरना प्रदर्शन में रविन्द्र दौरालिया, भाकियू जिलाघ्यक्ष मनोज त्यागी ईकड़ी मोहित छुर्र, हरेन्द्र जानी, संजय दौरालिया,बबलू जटौली, मनोज गुप्ता सहित अनेक किसान मौजूद रहे।

प्रेमिका ​के साथ होटल में मना रहा था रंगरेलियां, तभी पत्नी अपनी दो बहनों के साथ पहुंच गई वहां…

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here