Corona के चलते छात्राओं ने नकल के लिए ऐसी-ऐसी जगह लिख रखे थे जवाब, देखकर उड़ गए सबके होश

चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय मेरठ की यूजी और पीजी फाइनल ईयर की परीक्षाएं चल रही हैं। इसमें नकल करने के लिए जो तरीके इस्तेमाल किए जा रहे हैं, उसे देखकर हर कोई चौंक गया है।

0
155

मेरठ। चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय की फाइनल ईयर की मुख्य परीक्षा चल रही है। ये परीक्षा पहले ही हो जाती, लेकिन कोरोना के कारण परीक्षा स्थगित कर दी गई। अब फाइनल ईयर की परीक्षा चल रही हैं। कोरोना काल में सोशल डिस्टेंसिंग अपनाने की अपील की गई थी और एक-दूसरे से दो फीट की दूरी पर रहने की सलाह दी गई थी। फाइनल ईयर की छात्राओं ने मुख्य परीक्षा के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग से फायदा उठाने की नीयत से नकल करने का वह फार्मूला अपनाया कि जिसने भी सुना, वह हैरान रह गया। दरअसल, फाइनल ​ईयर की छात्राओं ने सोचा ​कि सोशल डि​स्टेंसिंग के कारण कोई नकल की चेकिंग के लिए हाथ भी नहीं लगाएगा, लेकिन जब सचल दस्ते को नकल का शक हुआ तो उन्होंने इन छह छात्राओं की चेकिंग कराई। नकल शरीर के उन जगहों से मिली, जिनकी कल्पना भी नहीं की जा सकती।

यह भी पढ़ें: Meerut: 44 आरएएफ जवानों समेत ​230 नए कोरोना केस आए सामने, छुट्टी काटकर बटालियन लौटे थे

शनिवार को चौधरी चरण सिंह की मुख्य परीक्षा में फाइनल ईयर की ​छात्राएं नकल करती हुई पकड़ी गई। इन्होंने सवालों के जवाब हथेली-बाजू पर, मुंह पर लगे मास्क, तलवे समेत कई जगहों पर मिले। छह लड़कियों ने बाजू, पैर एवं हथेली पर पूरी किताब उतार डाली और नकल करते पकड़ी गईं। विवि ने छात्राओं के खिलाफ अनफेयर मीन्स (यूएफएम) में कार्रवाई करते हुए कॉपी एवं नकल के फोटो बतौर सुबूत ले लिए। केंद्रीय सचल दल के संयोजक प्रो. शिवराज सिंह पुंडीर के अनुसार विवि के पांच सचल दस्ते केंद्रों पर छापेमारी कर रहे हैं। डॉ. विवेकानंद डे एवं डॉ. रंजना की टीम ने आईपी कॉलेज बुलंदशहर और एनआरईसी कॉलेज खुर्जा सहित नोएडा के कॉलेजों में छापेमारी की।

यह भी पढ़ें: Mission 2022 ​के लिए Congress ने यूपी में खेला ट्रंप कार्ड, ब्राह्मण वोट बैंक को फिर सहेजने की कवायद

आईपी कॉलेज बुलंदशहर में चार और एनआरईसी कॉलेज में दो छात्राओं को नकल करते पकड़ा गया। कोरोना संक्रमण के चलते फिजिकल चेकिंग नहीं हो पा रही, ऐसे में ये छात्राएं अपने बाजू, पैर और हथेली पर ऑब्जेक्टिव प्रश्नों के उत्तर लिखकर पेपर करने में जुटी थी। टीम ने शक होने पर छात्राओं को सीट से उठाया तो नकल पकड़ी गई। एक छात्रा ने अपने पूरे बाजू पर सौ से अधिक सवाल उतारे हुए थे। ये प्रश्न मॉडल पेपर से थे। छात्रा ने तलवे पर उत्तर लिखे हुए थे। विवि ने सभी केंद्रों पर चेकिंग तेज करने के निर्देश दिए हैं। एक छात्रा ऐसी भी थी जिसने सूट के कोने पर उत्तर लिखे हुए थे।

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here