प्राइमरी स्कूलों में बच्चों के Aadhar Card बनवाने के लिए BSA ने दिए निर्देश, कहा- कोई रह गया तो होगी कड़ी कार्रवाई

मेरठ के बीआरसी केंद्रों पर निशुल्क आधार कार्ड बनाने के बीएसए ने निर्देश दिए हैं। बीएसए ने इसमें कोई भी लापरवाही नहीं बरतने की चेतावनी दी है। उन्होंने कहा है कि यदि कोई बच्चा आधार कार्ड बनवाए बगैर रह जाता है तो स्कूल के प्रधानाचार्य पर कार्रवाई होगी।

0
145

मेरठ। जनपद के परिषदीय, सहायता प्राप्त व मान्यता प्राप्त स्कूलों (District Primary Schools) के सभी प्रबंधक व प्रधानाध्यापकों को नामांकित सभी छात्र छात्राओं (All Children) के आधार कार्ड (Aadhar Card) बनवाने के आदेश बीएसए (BSA Meerut) सतेंद्र कुमार ढाका ने दिए हैं। उन्होंने कहा है कि जिन स्कूलों में छात्र-छात्राओं के आधार कार्ड अभी नहीं बने हैं। उनके आधार कार्ड आवश्यक रूप से संबंधित ब्लॉक संसाधन केंद्र पर तत्काल बनवाना सुनिश्चित करें।

यह भी पढ़ें: CCSU Meerut: ओपन मेरिट लिस्ट के बाद भी Admission लेने वालों का टोटा, विश्वविद्यालय ने उठाया ये कदम

बीएसए ने कहा कि इस कार्य को पूरी प्राथमिकता से लें, इसमें किसी भी प्रकार की शिथिलता व लापरवाही बर्दाश्त नहीं होगी। इसके पश्चात यदि कोई भी छात्र=छात्रा जिले में आधार कार्ड रहित पाया जाता है तो उस स्कूल के प्रबंधक व प्रधानाचार्य प्रधानाध्यापक सीधे जिम्मेदार होंगे। साथ ही उनके विरूद्ध कार्रवाई भी की जाएगी।

यह भी पढ़ें: लड़की बनकर पांच लड़के 200 से ज्यादा युवकों बना चुके थे शिकार, ब्लैकमेल करने का पढ़िए ये हैरत करने वाला राज

मेरठ जनपद में बेसिक शिक्षा परिषद से संचालित कुल 1072 स्कूल है, जिसमें 638 प्राइमरी 170 जूनियर व 264 कंपोजिट स्कूल है। इनमें करीब 1.25 लाख छात्र-छात्राएं पढ़ते हैं। खंड शिक्षा अधिकारी मेरठ एसके गिरि का कहना है कि उपरोक्त सभी स्कूलों के साथ सहायता प्राप्त व मान्यता प्राप्त स्कूलों के बच्चों के भी आधार कार्ड बनाए जाएंगे।

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here