सर्राफ की हत्या और लूट में तीन ​आरोपी गिरफ्तार, चेन स्नेचर गैंग ने दिया था वारदात को अंजाम

मेरठ के मेडिकल क्षेत्र के जागृति विहार में सर्राफ के यहां 10 लाख कैश और पांच किलो चांदी की लूट के दौरान सर्राफ के बेटे अमन जैन की हत्या कर दी थी। इसमें तीन आरोपी गिरफ्तार किए गए हैं। तीनों ने स्वीकारा है कि पहचान लिए जाने पर हत्या की थी। पुलिस इस मामले का बुधवार को खुलासा करेगी।

0
176

मेरठ। सर्राफ की हत्या के दौरान दस लाख कैश और पांच किलो चांदी लूटने के मामले में पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। इनके पास से कुछ कैश और ज्वेलरी भी बरामद की गई है। पुलिस इस मामले का खुलासा बुधवार को कर सकती है। मंगलवार की देर रात इन तीनों बदमाशों को मेडिकल थाना क्षेत्र के भोपाल विहार से गिरफ्तार किया है। हालांकि पुलिस को इन्हें गिरफ्त में लेने में पसीना आ गया था। पुलिस का दावा है कि तीनों आरोपी नशा करके स्नेचिंग ​करने वाले गैंग से जुड़े हैं। पहचाने जाने पर ही इन्होंने सराफ अमन जैन की हत्या की।

यह भी पढ़ें: नगर आयुक्त, डिप्टी सीएमओ समेत तीन डॉक्टर कोरोना संक्रमित, 196 नए केसों से आंकड़ा 6500 के पास

मेडिकल थाना क्षेत्र के जागृति विहार सेक्टर-दो में आठ सितंबर को बदमाशों ने भागमल ज्वैलर्स से दस लाख रुपये कैश और पांच किलो चांदी लूट ली थी। भागते वक्त एक बदमाश को व्यापारी अमन जैन ने पकड़ लिया। इस पर बदमाशों ने अमन की गोली मारकर हत्या कर दी थी। वारदात के खुलासे के लिए शहर के व्यापारी आंदोलनरत हैं। सूत्रों ने बताया कि पुलिस ने इस मामले में तीन स्नेचरों को मेडिकल थाना क्षेत्र के भोपाल विहार से देर रात गिरफ्तार कर लिया है। हालांकि पकड़े जाने से पहले खेतों में उन्होंने पुलिस को खूब छकाया। उन्होंने लूट-हत्या की बात कुबूली है। बदमाशों से कुछ नगदी-जेवरात भी बरामद हुए हैं। इनमें दो बदमाश भोपाल विहार और शिव शक्ति विहार के हैं, जबकि तीसरा रोहटा क्षेत्र का रहने वाला है। मृतक के पिता सतीश जैन ने एक आरोपी की शिनाख्त भी कर ली है।

यह भी पढ़ें: Baghpat में उधार के पैसे को लेकर संघर्ष, पथराव के दौरान पुलिसकर्मियों ने भागकर बचाई जान

पुलिस सूत्रों ने बताया कि भागमल ज्वैलर्स से जितना कैश लुटना बताया गया, उतना कैश लूटने की बात बदमाशों ने नहीं कुबूली है, इसलिए बरामदगी कम हुई है। तीनों बदमाश मेडिकल क्षेत्र के भोपाल विहार के एक मकान में पनाह लिए हुए थे। चौथा बदमाश अभी हाथ नहीं आ सका है। पुलिस ने बताया कि हत्या करने वाले सभी बदमाश चेन स्नेचर हैं। इस गिरोह का भागमल ज्वैलर्स पर आना-जाना था। बदमाश लूट-चोरी के बजाय परिवार में दिक्कत बताकर ज्वैलरी बेचते थे। इसलिए अमन या उसके पिता सतीश कुमार जैन को कभी बदमाशों पर शक भी नहीं हुआ। इसीलिए अमन बदमाशों को जानता था।

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here